3 साल की मासूम को महंगा पड़ा रिमोट के झगड़े में पिता का साथ देना, माँ ने बेरहमी से ले ली जान

कहते है माँ ममता की मूरत होती है, बच्चा चाहे माँ के साथ कितना भी बुरा बर्ताव क्यों ना कर ले पर माँ कभी भी अपने बच्चों से नाराज नहीं होती है। मगर 26 साल की इस माँ ने यह परिभाषा अब कर रख दी है। दरअसल इस माँ ने अपनी 3 साल की बेटी की जीवन लीला सिर्फ इसलिए खत्म कर दी क्योंकि वो झगड़ा होने पर अपनी माँ का नहीं बल्कि पिता का साथ देती थी। हाल ही में भी टीवी रिमोट को ले कर दोनों मिया बीवी में ठन गयी थी और दोनों आपस में झगड़ने लगे थे इस बार भी बेटी ने अपने पिता का ही पक्ष लिया। इस बात से महिला और भी ज़्यादा रूष्ट हो गयी।

जिस माँ के बारे में हम बता रहे हैं उसका नाम सुधा है। और उसने एक निर्माणाधीन इमारत में ले जा कर अपने हाथों से अपनी 3 साल की बच्ची की जीवन लीला समाप्त कर दी। बता दें सुधा और उसका पति दोनों ही काम करते हैं सुधा जहां टाइल्स की एक दुकान में झाड़ू पौछे का काम करती है वहीं उसका आदमी दिहाड़ी मजदूर है। 

अपनी बेटी को अपने ही हाथों खत्म करने के बाद सुधा पूरी तरह अनजान बन गयी। यहां तक कि अपने पति के साथ उस ढूंढने का नाटक भी करने लगी।  बाद में दोनों दंपती पुलिस स्टेशन गए और मासूम के गायब होने की रिपोर्ट लिखवाई, सुधा ने बताया कि वो अपनी बेटी को चाट की दुकान पर गोभी मंचूरियन खिलाने के लिए गयी थी। मगर जब वो पैसे चुकाने गयी तो उतने में उसकी बेटी गायब हो गयी। 

 वहीं पुलिस मामले की जांच कर ही रही थी तभी एक व्यक्ति का फोन आता है जो उन्हें मासूम के शरीर का निर्माणाधीन इमारत में पाए जाने की खबर देता है। खबर मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंचती है, वहीं पहचान करने के लिए सुधा और उसके पति को भी बुलाया जाता है। पुलिस ने सुधा और उसके पति से पूछताछ की पूछताछ में पुलिस को सुधा पर शक हुआ। पुलिस ने थोड़ी सख्ती और दिखाई तो सुधा ने अपना पूरा जुर्म कबूल कर लिया। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.