अभिषेक बच्चन ने तोड़ी नेपोटिज्म पर चुप्पी, पिता अमिताभ ने नहीं की है इंडस्ट्री में किसी भी प्रकार की मदद

सदी के महानायक अमिताभ बच्चन और जया बच्चन के बेटे अभिषेक बच्चन को बॉलीवुड में 20 साल हो चुके हैं। उन्होंने साल 2000 में फिल्म रिफ्यूजी से अपने करियर की शुरुआत की थी। अभिषेक ने इन 20 सालों में कई बड़ी फिल्मों में काम किया। लेकिन अभी तक उन्हे वह मुकाम हासिल नहीं है जो उनके पिता का हैं। यहां तक की अभिषेक बच्चन को लेकर कई बार यह बातें कही गई हैं कि उन्होंने अभी तक जो कुछ भी हासिल किया है वह अपने पिता के नाम की बदौलत ही किया हैं। बहुत से लोग अभिषेक बच्चन को नेपोटिज्म के प्रोडक्ट से बढ़कर और कुछ नहीं समझते।

पिछले दिनों जब सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद नेपोटिज्म का मुद्दा और गरमा गया तब से ही अभिषेक जैसे कई स्टार्स से इसके बारे में सवाल किए जा रहे हैं। अभिषेक बच्चन ने अब नेपोटिज्म पर अपनी चुप्पी तोड़ी है। 

पिता ने नहीं की किसी से बात

अभिषेक बच्चन पर कई सालों से नेपोटिज्म के आरोप लग रहे हैं। अब उन्होंने इस मामले पर अपनी चुप्पी तोड़ते हुए बताया है कि, उनके पिता अमिताभ बच्चन ने उनकी इंडस्ट्री में किसी भी प्रकार की कोई मदद नहीं की है। ना ही उनके पिता ने कभी उनके लिए किसी प्रोड्यूसर को फोन किया या उनके लिए खुद कोई फिल्म बनाई है। अभिषेक आगे कहते हैं कि, नेपोटिज्म से कोई भी इंडस्ट्री में बना नहीं रह सकता है। कोई भी अभिनेता सफल होगा या नहीं इसका फैसला दर्शक करते हैं। अगर दर्शकों को आपका काम पसंद आता है तभी आप इस इंडस्ट्री में सफल हो सकते हैं। अभिषेक का मानना है कि इंडस्ट्री में किसी की सिफारिश से आना और यहां पर बने रहकर सफलता हासिल करना दोनों बेहद अलग बातें हैं। लेकिन लोग दोनों का अंतर नहीं समझते।

पिता के लिए की है फिल्म प्रड्यूस

अभिषेक बच्चन ने बताया है कि, उन्होंने जरूर अपने पिता के लिए एक फिल्म प्रोड्यूस की थी जिसे दर्शकों से सराहना भी मिली। अभिषेक ने नेपोटिज्म के बारे में बात करते हुए आगे कहा कि, फिल्म इंडस्ट्री में कोई किसी के लिए हमेशा कुछ नहीं कर सकता। मान लिया जाए कि अगर किसी को पहली फिल्म में किसी के कहने पर ब्रेक मिल भी जाता है। तब भी अगर दर्शकों को पहली ही फिल्म पसंद नहीं आती तो उस एक्टर को दूसरी फिल्म में मिलना बहुत मुश्किल हो जाता है। हर एक्टर को अपनी काबिलियत के दम पर ही इंडस्ट्री में अपनी पहचान बनानी पड़ती है। 

सुशांत मामले के बाद उठा था मुद्दा

नेपोटिज्म की बात इंडस्ट्री में सालों से की जा रही है। लेकिन पिछले दिनों सुशांत सिंह राजपूत मामले के बाद यह मुद्दा गरमा गया। कंगना रनौत, पायल रोहतगी जैसे कई एक्टर्स ने नेपोटिज्म के खिलाफ आवाज उठाई। लोगों का स्टार किड्स पर इतना गुस्सा देखने को मिला कि आलिया भट्ट की फिल्म सड़क 2 का ट्रेलर यूट्यूब पर सबसे ज्यादा नापसंद किया जाने वाला ट्रेलर बन गया। तब से ही सभी स्टार किड्स नेपोटिज्म के बारे में बात करने से बचते हुए नजर आ रहे हैं।

लोकेन्द्र शर्मा प्राधान सम्पादक न्यूज मेनिया पिछले 10 सालों से वेब समाचार की दुनिया में कार्यरत हैं। आपने Wittyfeed, Laughing Colours, MP news, News Trend, Raj express, Ghamasan news जैसी संस्थाओं में अपनी सेवाएं दी हैं। तथा वर्तमान में आप हमारी संस्था के साथ जुड़ कर लोगों के इंटरटेनमेंट का ध्यान रख रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.