सुशांत मामले में पहली बार खुल कर बोले आदित्य ठाकरे, कहा – इतनी गंदी राजनीति…

दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत मामले में अगर सबसे ज़्यादा किसी ने आलोचना झेली तो वो है महाराष्ट्र सरकार, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और उनके बेटे आदित्य ठाकरे को सुशांत के चाहने वालों ने अपने निशाने पर ले लिया था। अब आदित्य ठाकरे ने अपने ऊपर लगे आरोपों पर पलटवार किया है। उन्होंने बीजेपी का नाम लिए बिना कहा कि अपने जीवन में कभी उन्होंने इतनी गंदी राजनीति नहीं देखी, जितनी पिछले दिनों हुई। वहीं कंगना मामले में आये कोर्ट के हालिया फैसले पर भी उन्होंने अपनी बात रखते हुए कहा कि जो कोर्ट का फैसला होता है हम उसे मानते हैं। 

वहीं सुशांत और दिशा मामले में नाम आने पर आदित्य ने कहा कि  “मुझे इस बात से दुःख होता है कि महाराष्ट्र की राजनीति का स्तर कभी इतना नीचे नहीं गया था जितना पिछले एक साल में गया है। मैं जानता हूँ कि विपक्ष का काम सरकार पर कीचड़ उछालने और उसे बदनाम करने की कोशिश करने का रहता है, मगर जितनी बीते दिनों हुई उतनी गंदी राजनीति मैंने अपनी जिंदगी में नहीं देखी। न सिर्फ महाराष्ट्र में बल्कि कभी इतनी गंदी राजनीति किसी अन्य राजनीति में भी होती हुई नहीं देखी।”

इसके साथ ही जब उनसे पूछा गया कि क्या उन्हें निशाना बनाया गया तो उनका कहना था कि मेरा यह मानना रहता है कि जब भी हम देश सेवा की ज़िम्मेदारी अपने कंधों पर उठाते हैं तो विपक्ष सवाल उठाता रहता है और कीचड़ फेंकता है। लेकिन उस कीचड़ में हाथ गंदे नहीं करना हमारा काम होता है। उन्होंने कहा, ”एक तो हम उस कीचड़ में कूद सकते हैं और फिर दूसरा यह कर सकते हैं कि लोगों की सेवा करने में व्यस्त रहें। मेरा इस पर मानना है कि लोगों की सेवा करनी चाहिए।”

वहीं जब उनसे कंगना के बारे में सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि जो सुप्रीम कोर्ट और हाई कोर्ट के निर्णय होते हैं वो सर्वोपरि है, और हम उन्हें मानते हैं। लोगों का साथ और प्यार हमारे साथ बना हुआ है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि जो भी महाराष्ट्र या मुंबई के खिलाफ कारनामा करेगा, उसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। गौरतलब है कि सुशांत मामले के बाद शिवसेना और कंगना के बीच काफी तीखी बयान बाजी देखने को मिली थी। जिसके बाद BMC ने अवैध निर्माण के कर कंगना के ऑफिस पर JCB चला दी थी, हालांकि इस मामले में सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने BMC को हर्जाना देने में आदेश दिए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.