सुशांत के स्टारडम के आगे अमिताभ बच्चन का भी जादू फैल, SSR के चाहने वालों ने किया यह कमाल

पिछले साल, हम महामारी के संकट के कारण सिनेमाघरों को बंद करने के कारण जितना नुकसान फिल्मेकर्स का हुआ शायद उतना ही नुकसान भावनात्मक रूप से फ़िल्म दर्शकों का हुआ। हालांकि कुछ बड़े बजट की फिल्में और वेब सीरीज का आनंद लेने में कोई समझौता नहीं किया गया क्योंकि अधिकतम फिल्में OTT प्लैटफॉर्म पर रिलीज की गई थी। कुछ राइविंग प्लॉट्स के अलावा, हमने प्रमुख अभिनेताओं के कुछ अद्भुत प्रदर्शनों को देखा, जिसने कभी हमें हंसाया तो कभी रुलाया। 

कुछ हफ़्ते पहले एक न्यूज़ पोर्टल ने 2020 के बेस्ट अभिनेता के लिए एक सर्वेक्षण किया गया, यह जानने के लिए कि किस स्टार ने अपने अभिनय से लोगों के दिलों पर राज किया है। परिणाम बाहर हैं और ईमानदारी से यह कहा जा सकता है कि ये वोट प्रशंसकों की भावनाएं हैं क्योंकि इसके विनर दिवंगत सुशांत सिंह राजपूत हैं, जिनकी आख़री फ़िल्म दिल बेचारे थी।

अभिनेता ने एक बड़े अंतर से यह खिताब अपने नाम किया है, उन्होंने इस प्रतियोगिता में 67% वोट हासिल किया। जो निश्चित रूप से दिखाता है कि सुशांत के पिछले प्रदर्शन ने दर्शकों के साथ कैसे तालमेल बिठाया और उनका दिल किस हद तक जीता। सुशांत के बाद, अजय देवगन को तन्हाजी: द अनसंग वॉरियर में अपने प्रदर्शन के लिए 15% वोट मिले, इसके बाद दिवंगत इरफान खान को 10% के साथ अंगरेजी मीडियम के लिए चुना गया। दूसरी ओर, अमिताभ बच्चन, बॉबी देओल और पंकज त्रिपाठी को गुलाबो सीताबो, क्लास ऑफ 83 और लूडो में शानदार अभिनय के बावजूद भी एक डिजिट में वोट मिले।

सुशांत की फ़िल्म दिल बेचारा में सचमुच सुशांत का काम सराहनीय है। हां यह हो सकता है कि यह वोट भावात्मक रूप से दिए गए हो मगर हम यह बात दावे के साथ कह सकते हैं कि दर्शकों का चुनाव गलत नहीं है। सुशांत अपने आप में एक बेहतरीन अदाकार थे, बॉलीवुड में की गई उनकी फिल्में उनके किरदार सदैव जीवंत रहेंगे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.