महज़ 15 साल की उम्र में दिल दे बैठी थी करीना कपूर, प्यार के लिए कर डाली थी यह हद भी पार

बॉलीवुड एक्ट्रेस करीना कपूर टॉप एक्ट्रेसेस में शुमार हैं। उन्होंने अपने करियर में बहुत से हिट फिल्में की हैं। अभी भी करीना लगातार इंडस्ट्री में बनी हुई है। पिछले दिनों करीना ने अपनी प्रेगनेंसी की न्यूज़ दी थी। बता दे कि करीना ने प्रेगनेंसी के बाद भी काम करना नहीं छोड़ा। काम के प्रति इतनी डेडिकेट रहने वाली करीना हमेशा से ही स्वभाव से बहुत चुलबुली हैं। करीना कपूर अपनी बेबाकी के लिए भी जानी जाती हैं।

उन्हें जो अच्छा नहीं लगता उसके बारे में वह बोलने से कभी पीछे नहीं रहती। हाल ही में करीना कपूर ने अपने एक इंटरव्यू के दौरान अपनी टीन एज से जुड़ी बहुत सी बातें शेयर की है, करीना ने बताया कि वह बचपन में बहुत शरारती थी। एक बार तो उन्होंने ऐसी हरकत की थी कि उनकी मां बबीता ने तंग आकर उन्हें देहरादून के बोर्डिंग स्कूल भेज दिया था।

15 साल की उम्र में हो गया था प्यार

करीना कपूर ने अपने बीते दिनों को याद करते हुए बताया कि, बचपन से ही वह थोड़ी शरारती किस्म की थी। इस वजह से उन्हें कभी भी बाहर आने जाने की परमिशन नहीं मिलती थी। जबकि उनकी बहन करिश्मा को उनके दोस्तों के साथ घूमने की पूरी आजादी थी। वह हमेशा करिश्मा की तरह बाहर घूमना चाहती थी।

उन्होंने आगे बताया कि केवल 15 साल की उम्र में ही उन्हें एक लड़का बहुत पसंद आ गया था। जब उनकी मां बबीता को इस बारे में पता चला तो वह बहुत नाराज हो गई थी। करीना ने बताया कि वह उस लड़के से मिलने के लिए जाना चाहती थी। लेकिन उनकी मां ने उन्हें इसके लिए परमिशन नहीं दी थी। उसके बाद उन्होंने घर से भाग जाने का मन बना लिया। 

ताला तोड़कर चुरा लिया फोन

करीना कपूर ने बताया कि, उनकी मां ने अकेले उनकी और करिश्मा की परवरिश की है। इसीलिए वह अपनी बच्चियों के प्रति बहुत सतर्क रहती थी। जिस वजह से उनकी मां फोन को भी अपने कमरे में लॉक करके रखती थी। लेकिन एक बार जब उनकी मां डिनर के लिए बाहर गई थी। तब उन्होंने चाकू से अपनी मां के कमरे का लॉक तोड़ दिया और फोन बाहर निकाल लिया। जिसके बाद उन्होंने उस लड़के से मिलने के लिए प्लान बनाया। वह अपनी मां को बिना बताए उस लड़के से मिलने के लिए घर से भाग गई। इसके आगे करीना ने कहा कि यह बहुत गलत बात है ऐसा नहीं करना चाहिए। 

भेज दिया बोर्डिंग स्कूल

करीना ने आगे बात करते हुए बताया कि, उनकी मां बबीता उनकी हर हरकत को टॉलरेट कर देती थी। लेकिन जब उन्हें उनके घर से भाग जाने के बारे में पता चला तो वह बहुत नाराज हुई। उसके बाद अपनी बेटी को सही राह पर लाने के लिए उन्होंने करीना को देहरादून के बोर्डिंग स्कूल में पढ़ने के लिए भेज दिया। बता दे कि करीना कपूर आज भी स्वभाव से उतनी ही चुलबुली है। लेकिन अब वह बहुत मैच्योर और समझदार हैं। इसीलिए अब वह खुद भी अपनी हरकतों को गलत मानती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.