जेल में बंद बाबा राम रहीम को सता रही है हनिप्रीत की याद, पुलिस से हाथ जोड़ कर की यह मांग

जेल में बंद बाबा रामदेव से जुड़ी एक खबर आ रही है, कहा जा रहा है कि राम रहीम ने पुलिस से मांग की है कि उन्हें अपनी पत्नी, बेटे और हनिप्रीत से मिलने की ख्वाहिश जताई है। गौरतलब है कि हाल ही में बाबा रामदेव का उपचार चल रहा है और अपने पूरे इलाज के दौरन वे पुलिस से अपने करीबियों से मिलने मि गुजारिश करता रहा। बाबा राम देव को प्राथमिक उपचार के लिए रोहतक पीजीआई में भर्ती करवाया गया था। इस दौरान करीब 21 घंटे तक वे अस्पताल में भर्ती रहे थे। गुरुवार को जब उनकी तबियत में सुधार हुआ तो उन्हें फिर से जेल में बंद कर दिया गया। 

खबर है कि उपचार के दौरान सुरक्षा में लगे सभी आला अधिकारियों से बार बार राम रहीम यही गुजारिश कर रहा था कि उसे बस एक बार अपने करीबियों से मिलने दिया जाए। हालांकि बाबा रहीम की इस विनती का अधिकारियों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा और उन्हें अपनी पत्नी, बेटे और हनिप्रीत से नहीं मिलने दिया। पुलिस के अधिकारियों का कहना है कि अगर किसी अपराधी से घरवालों को मिलना हो तो उसके लिए पहले कोर्ट की परमिशन लगती है। मगर बाबा राम रहीम के पास यह इजाजत नहीं थी।

जेल में राम रहीम का स्वास्थ्य बुधवार को अचानक खराब हो गया था जिसके बाद इलाज के लिए उन्हें अस्पताल में लाया गया। पीजीआई के चार डॉक्टरों ने उनका प्राथमिक इलाज किया और जिसके बाद उन्हें एडमिट करने की सलाह दी गयी। इसके बाद बाबा को बुधवार के दिन 6 बजे के आस पास पीजीआई के वार्ड क्रमांक 7 में भर्ती करवाया गया। सुरक्षा में तैनात अधिकारियों के कहना है कि इस पूरे समय बाबा राम रहीम को घबराहट हो रही थी और वो अपने करीबियों से मिलना चाहता था। 

चाहे पुलिस प्रशासन ने बाबा राम रहीम की इस मांग को खारिज कर दिया। कहा जा रहा है कि उसके बाद भी वो अपनी इस जिद पर अड़ा रहा। वो पूरे समय पुलिस वालों से अपने क़रीबियों और हनिप्रीत से मिलने की ख्वाहिश करता रहा। दोपहर 12 बजे जब राम रहीम की जांच की गई तो वे सामान्य थे लिहाजा डॉक्टर ने उन्हें डिस्चार्ज कर जेल भेजने की अनुमती दे दी। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.