ड्रग को ले कर बॉलीवुड दो भागों में बंटा, जया प्रदा ने दी जया बच्चन को खुली चुनौती

ड्रग मामले ने बॉलीवुड में भूचाल ला दिया है। दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत केस में ड्रग्स का एंगल सामने आया है जिसके बाद इसकी जांच अब बॉलीवुड के कई सितारों तक पहुंच रही है। यही नहीं बल्कि अब बॉलीवुड की पार्टियों को ड्रग एडिक्टेड सितरो का गढ़ कहा जा रहा है। यह समय बॉलीवुड सितारों में आपसी कलह का दौर बन कर सामने आया है। पिछले दिनों इस कलह को संसद भवन से भी पूरे देश ने सुना जब राज्यसभा में रवि किशन के बयान को जया बच्चन ने आड़े हाथों लिया और उन्हें खुल कर खूब खरी खोटी सुनाई। इसके बाद रवि किशन और जया बच्चन के बयान ने एक तीखी नोकझोंक को जन्म दे दिया जिसमें बहुत से सितारे अपने-अपने मत के साथ मैदान में उतर गए हैं। हाल ही में जया प्रदा ने भी रवि किशन का समर्थन देते हुए मोर्चा संभाल लिया है। 

दरअसल जया प्रदा ने राज्यसभा में दिये जया बच्चन के भाषण को पूरी तरह राजनीति से प्रेरीत बताया। सिर्फ इतना ही नहीं उन्होंने जया बच्चन का खुली चुनौती तक दे डाली है। जया प्रदा के अनुसार जया बच्चन वरिष्ठ हैं और वे उनका सम्मान करती हैं, मगर जब वो नए सितरो के ड्रग्स लेने और बॉलीवुड के बारे में राज्यसभा में भाषण दे रही थी तब वे राजनीति कर रही थीं, और इसीलिए मैं उनकी बातों का विरोध करती हूं।

अपने बयान में जया प्रदा ने कहा कि यह राजनीति करने का विषय नहीं है। समाज सेवा सबसे पहले अपने घर से शुरू करनी चाहिए, मैं जया बच्चन जी के बयान से इत्तेफाक नहीं रखती हूं क्योंकि उन्हें आगे आ कर यह कहना चाहिए था की हां मैं अपने घर के बच्चों को संभालूंगी। बच्चन परिवार बॉलीवुड का सबसे सम्मानित परिवार है वो जो बोलता है उसे दुनिया मानती है। इसलिए मैं आपकी चुनौती देती हूं कि क्या आप यह काम करने के लिए तैयार हैं ?  क्या आप बॉलीवुड में बढ़ रहे ड्रग माफिया और बहक रहे बच्चों को संभाल पाओगे? 

वहीं जिस थाली में खाते हो उसी में छेद करते हो वाले बयान पर जया प्रदा ने जया बच्चन पर निजी हमला करते हुए उन्हें दिवंगत नेता अमर सिंह की याद दिलाई। उन्होंने कहा कि जिस अमर सिंह ने मुश्किल दौर में अमिताभ का हाथ थामा उसी को आखरी क्षण में जब उन्हें किसी के साथ की जरूरत थी तब बच्चन परिवार कहीं नहीं था। जया प्रदा ने कड़ा सवाल दागते हुए पूछा कि जिस थाली में खाया उसमें छेद किसने किया। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.