सुशांत मामले में CBI ने दिया अभी तक का सबसे बड़ा बयान, बताया 145 दिन का पूरा हिसाब

दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत मामले में 145 दिन से चुप्पि साधी हुई CBI ने आखिरकार अपनी चुप्पि तौड़ते हुए बयाना ज़ारी किया है। केंद्रीय जांच ब्यूरो ने कहा है कि वह मामले के सभी पहलुओं पर गौर कर रहा है और कुछ भी खारिज नहीं किया गया है।

गौरतलब है कि अक्टूबर में, दिल्ली के एम्स के डॉक्टरों की एक टीम ने सीबीआई से अपनी राय में कहा था कि अभिनेता की फोरेंसिक रिपोर्ट में कुछ भी संदिग्ध नहीं पाया गया है, यानी उनके अनुसार मुम्बई पुलिस की थ्योरी को सही साबित किया गया है। हालांकि सुशांत के परिवार वाले और वकील इस बात को स्वीकार नहीं कर रहे हैं और इस मामले में वे जांच की मांग कर रहे हैं।

इसके साथ ही कुछ दिनों  पहले भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) को पत्र लिखकर जांच की स्थिति के बारे में पूछा था, जिसके बाद पीएमओ ने पत्र सीबीआई को भेजा था। भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी के पत्र के जवाब में केंद्र की जांच एजेंसी ने कहा “जांच के दौरान आधुनिक मोबाइल फोरेंसिक उपकरणों जिनसे डिजिटल उपकरणों का महत्वपूर्ण डेटा निकालकर उनका विश्लेषण किया जाना संभव हो पा रहा है। मामले में संबंधित मोबाइल टॉवरों के बेकार हो चुके डेटा को भी बारीकी से खंगाला जा रहा है।” 

सभी संबंधित गवाहों के बयान दर्ज कर लिए गए हैं, ताकि शिकायतकर्ता, उनके पारिवारिक सदस्य और स्वतंत्र सूत्रों की ओर से उठाए गए सभी सवालों का जवाब दिया जा सके। उन्होंने बताया कि इस मामले में बेहद गहराई से और व्यापक स्तर पर जांच की गई है।

इसके साथ ही उन्होंने आगे कहा कि वरिष्ठ अधिकारियों के साथ जांच टीमों ने सभी संबंधित स्थानों, अलीगढ़, फरीदाबाद, हैदराबाद, मुंबई, मानेसर और पटना जा कर स्थिति का जायजा लिया। इससे जांचकर्ता और वरिष्ठ अधिकारियों को घटना से जुड़े हालातों के बारे में बेहतर और महत्वपूर्ण जानकारी मिल सकी। नई दिल्ली की जांच प्रयोगशाला सीएफएसएल के विशेषज्ञों ने भी घटनास्थल का दौरा किया और जांच की। विशेषज्ञ भी विभिन्न पहलुओं पर जांच कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.