AIIMS की रिपोर्ट के बाद कांग्रेस नेता अधीर ने रिया की वकालत, कहा – अब बिना उत्पीड़न के जल्द करो रिहा

दिल्ली में एम्स में डॉक्टरों के एक पैनल ने सुशांत सिंह राजपूत की विसरा रिपोर्ट की जांच करने के बाद इस केस में हत्या के एंगल को साफ तौर पर अस्वीकार कर दिया है। वहीं इसके बाद एक एक करके कई लोगों के बयान आये, जिनमें से कुछ AIIMS की रिपोर्ट का विरोध करते हुए नज़र आये तो कुछ इसके समर्थन में भी आये। वहीं रविवार को कांग्रेस से लोकसभा के सदस्य अधिरंजन चौधरी ने भी इस पूरे मामले में अपनी बात रखी। उन्होंने कहा कि अभिनेता की प्रेमिका को और बिना किसी उत्पीड़न के जल्द से जल्द रिहा कर दिया जाए।

यह पहली बार नहीं है जब अधिरंजन चौधरी ने रिया चक्रवर्ती के हक में बयान दिया हो, वो इससे पहले भी कई बार रिया का समर्थन कर चुके हैं। इससे पहले जब रिया को सुशांत केस में आये ड्रग केस में गिरफ्तार किया गया था तब भी उन्होंने इस गिरफ्तारी का विरोध किया था। उन्होंने ट्वीट करते हुए इसे महज़ एक राजनीतिक साजिश करार दिया था। 

इस बार  प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने ट्वीट कर कहा कि “अब भाजपा प्रचार मशीनरी एम्स की फॉरेंसिक टीम पर आरोप लगा सकती है, यह यह वही लोग है जिन्होंने आरोप लगाया है कि रिया चक्रवर्ती ने सुशांत सिंह राजपूत की हत्या की साजिश रची थी।”

उन्होंने आगे लिखा कि दिवंगत सुशांत जी के अवसान से हम सभी पीड़ित हैं, लेकिन एक महिला को आरोपी के रूप में झूठा करार देकर उन्हें सम्मानित नहीं किया जा सकता है। मैंने पहले भी कहा है कि रिया चक्रवर्ती एक निर्दोष महिला हैं, उन्हें बिना किसी उत्पीड़न के रिहा किया जाना चाहिए, वो बस राजनीतिक साजिश का शिकार है।

हालांकि रिया चक्रवर्ती की गिरफ्तारी ड्रग मामले में हुई है, और यह AIIMS की रिपोर्ट हत्या या आत्महत्या के एंगल की पुष्टि करती है। लिहाजा इसकी रिपोर्ट्स से रिया चक्रवर्ती की गिरफ्तारी का कोई संबंध नहीं है। बता दें कि नारकोटिक्स डिपार्टमेंट ने रिया को 8 सितम्बर को गिरफ्तार किया था। गौरतलब की AIIMS की हालिया रिपोर्ट में सुशांत के शरीर से किसी तरह के जहर नहीं होने की बात कही थी। इसके साथ ही इस रिपोर्ट में गले घोटने वाली थ्योरी को भी सिरे से नकार दिया। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.