कोर्ट ने बिगाड़ी अर्नब गोस्वामी की दिवाली, 14 दिनों के लिए किया पुलिस के हवाले

इंटीरियर डिजाइनर मामले में रिपब्लिक भारत के एडिटर एंड चीफ अर्नब गोस्वामी को कोर्ट ने सुनवाई करते हुए 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजने का आदेश दे दिया है। अब उन्हें 18 नवंबर तक जेल में ही वक्त गुज़ारना होगा, गौरतलब है कि इंटीरियर डिजाइनर को कथित तौर पर अपनी जान देने के लिए विवश करने के आरोप में बुधवार सुबह उनके घर से गिरफ्तार कर लिया गया। इसके साथ ही महिला पुलिस अधिकारी के साथ मारपीट करने का आरोप उनके ऊपर और लगाया गया। 

महिला अधिकारी ने दर्ज की अपनी रिपोर्ट में कहा कि जब वे बुधवार को सुबह अर्नब गोस्वामी के घर उन्हें गिरफ्तार करने वाली टीम के साथ गयी, तो वहां उनके साथ बदसलूकी की गई तथा उनके साथ मारपीट भी हुई। इस पूरे प्रकरण में गौस्वामी के खिलाफ  आईपीसी की धारा 353,504 और 34 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। 

वहीं अर्नब का कहना है कि पुलिस ने उनके साथ बदसलूकी की और उनके परिवार के साथ हाथापाई भी की। बता दें वरिष्ठ पत्रकार अर्नब गोस्वामी को जिज़ मामले में गिरफ्तार किया गया है वो दरअसल 2018 का है। गौरतलब है कि 2018 में अन्वय नाइक जो कि पेशे से इंटीरियर डिजाइनर थे, उन्होंने मई के महीने में अपनी माँ कुमुद नाइक के साथ मिल कर जान देदी, साथ ही उन्होंने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा जिसमें अर्नब और दो अन्य लोगों पर धोखाधड़ी और परेशान करने का आरोप लगाया। 

वहीं अर्नब को कोर्ट की कार्यवाही के बीच फोन चलाने और कोर्ट की कार्यवाही को लाइव करने के लिए डांट भी लगाई। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.