‘न्याय’ फ़िल्म पर दिल्ली हाईकोर्ट ने रोक लगाने से किया इनकार, ख़ारिज की सुशांत के पिता की याचिका

दिल्ली हाईकोर्ट ने इन दिनों एक बड़ा फैसला दिया है। दरअसल सुशांत सिंह राजपूत के परिवार वालों ने याचिका देते हुए एक्टर के जीवन पर आधारित फ़िल्म न्याय द जस्टिस पर रोक लगाने की मांग की थी। इस पूरे मामले में दिल्ली हाईकोर्ट ने फैसला सुनाते हुए फ़िल्म पर रोक लगाने से इनकार कर दिया है। सुशांत के पिता केके सिंह को याचिका पर सुनवाई करते हुए जस्टिस संजीव नरूला ने याचिका को ख़ारिज कर दिया है। गौरतलब है कि इस फ़िल्म का डायरेक्शन जहां दिलीप गुलाटी कर रहे हैं, वहीं इस फिल्म में जुबेर खान सहित शक्ति कपूर, सुधा चंद्रन, असरानी और अमन वर्मा काम करने वाले हैं। 

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Zuber k khan (@zuberkkhan)

गौरतलब है कि न्याय फ़िल्म के ट्रेलर से ही साफ है कि इस फ़िल्म में सुशांत के साथ हुई घटना को ही दौहराया गया है। इसी बात से सुशांत के पिता कृष्ण किशोर सिंह को आपत्ति थी। यही वजह थी कि उन्होंने इस फिल्म पर रोक लगाने की मांग की है। सुशांत के पिता की याचिका के बाद दिल्ली कोर्ट ने डायरेक्टर दिलीप और प्रोड्यूसर सरला सराओगी और राहुल शर्मा को आदेश दिया था कि कोर्ट के फैसले तक इस फिल्म को रिलीज नहीं किया जाएगा। हालांकि अब इस फ़िल्म के रिलीज पर कोई दिक्कत नहीं है, अब यह रिलीज के लिए तैयार है।

गौरतलब है कि इस फिल्म न्याय को 11 जून 2021 को रिलीज किये जाने का निर्णय लिया था। वहीं सुशांत सिंह राजपूत के मामले की बात करें तो उन्होंने 14 जून 2021 को दुनिया को अलविदा कह दिया था। सुशांत ने उनके मुंबई के बांद्रा स्थित अपार्टमेंट में अपनी आखरी सांस ली। उन्होंने खुद खुशी की थी या उनके साथ कुछ और हुआ, इस मामले की जांच आज भी सीबीआई कर रही है।

बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत मामले में उनकी तथाकथित गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती को जिम्मेदार ठहराया गया था। नारकोटिक्स डिपार्टमेंट ने भी अपनी जांच में पाया है कि रिया ही सुशांत को नशीला पदार्थ देती थी। तथा एक्टर के पिता ने रिया पर सुशांत के पैसे ठगने और गलत कदम उठाने के लिए उकसाने के आरोप लगे थे। सुशांत मामले के साथ ही ड्रग्स का कनेक्शन भी जुड़ा था, जिसमें कई बड़े सितारों का नाम भी आया है।  अभी भी नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ड्रग्स मामले तहकीकात करने में लगा हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.