सुशांत केस: मुम्बई पुलिस को खरी-खोटी सुनाने वाले बिहार डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने इस्तीफा दे दिया ?

सुशांत को न्याय दिलाने के लिए पूरी दुनिया में सुशांत के चाहने वाले आवज उठा रहे हैं। वहीं कुछ चर्चित चेहरे भी इस मुहिम का हिस्सा बन कर एक मजबूत स्तंभ के रूप में सामने आए हैं। उन्हीं में से एक हैं बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे, दरअसल अभी कुछ दिनों से यह खबर आ रही थी कि उन्होंने इस्तीफा दे दिया है। आइए जानते हैं क्या है इसकी सच्चाई ….

बता दें इस्तीफे वाली खबर को बिहार के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) गुप्तेश्वर पांडेय ने बेबुनियाद और कोरी अफवाह करार दिया है। पत्रकारिता पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा कि अभी बिहार के एक न्यूज वेबसाइट ने मेरे नौकरी से इस्तीफा देने के बारे में एक अफवाह चला कर सनसनी का माहौल पैदा कर दिया है. इसको किस स्तर की पत्रकारिता कहेंगे आप?

image source

गौरतलब है कि, रविवार को एक खबर प्रसारित हुई थी कि डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने अपनी प्रशासनिक सेवा से इस्तीफा दे दिया है। इस खबर ने सूबे में इस तरह से सनसनी मचाई कि बिहार की सियासी और प्रशासनिक महकमे में गहमागहमी बढ़ गई थी। इसके बाद पूरे मामले में डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय को खुद आगे आ कर सफाई देनी पड़ी। सिर्फ इतना ही नहीं उन्होंने झूठी खबर चलाने वाले पोर्टल पर अपना गुस्सा भी निकाला।

image source

बताते चलें कि बिहार के डीजीपी पांडे 1987 बैच की बिहार कैडर के आईपीएस अफसर हैं। वहीं 2009 में डीजीपी पांडे लोकसभा चुनाव भी लड़ना चाहते थे, इसके लिए उन्होंने वीआरएस भी ले लिया था। बीजेपी के टिकट पर वे बक्सर विधानसभा सीट से चुनाव लड़ने की तैयारी में थे। मगर फिर उन्हें टिकट नहीं दिया गया, इसके बाद आईपीएस गुप्तेश्वर पांडेय ने वीआरएस वापस लेने की अर्जी दी थी। 

गुप्तेश्वर पांडेय की इस अर्जी को नीतीश सरकार ने 9 महीने बाद मंजूर कर लिया, इसके बाद उन्हें एक बार फिर सर्विस में रख लिया गया था। इतना ही नहीं उन्हें 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले प्रमोशन देते हुए बिहार का डीजीपी बना दिया गया।  वहीं फिलहाल वे एक्टर सुशांत सिंह केस के दौरान डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय अपने मुखर बयानों के कारण सुर्खियां बटोर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.