करण जौहर ने शाहरुख को कर दिया था खुलेआम बेज्जत, बताया था ओवर एक्टिंग की दुकान

बॉलीवुड के जाने-माने निर्माता-निर्देशक करण जौहर और किंग खान यानी शाहरुख खान की जोड़ी ने कई हिट फिल्में दी है। सालों से करण जौहर और शाहरुख एक दूसरे के करीबी दोस्तों में से एक है। करण जौहर की बतौर निर्देशक पहली फिल्म ‘कुछ कुछ होता है’ के सुपर हिट होने में भी शाहरुख खान का बहुत बड़ा हाथ रहा है। लेकिन यह बात बहुत कम लोग जानते हैं कि शाहरुख के कैरियर के शुरुआती दौर में करण जौहर उन्हें बिल्कुल भी पसंद नहीं करते थे।

करण को लगता था कि शाहरुख एक अच्छे एक्टर नहीं है। उनके मुताबिक शाहरुख बहुत ओवरएक्टिंग किया करते थे। यह खुलासा करण जौहर ने खुद अपनी ऑटोबायोग्राफी ‘एन अनसूटेबल बॉय’ में किया है। बता दे कि यह ऑटो बायोग्राफी लिखने में उन्होंने पूनम सक्सेना की मदद ली है। इन दिनों सोशल मीडिया पर करण का यह स्टेटमेंट बहुत वायरल हो रहा है।

करण को पसंद थे आमिर खान

करण जौहर ने अपनी ऑटो बायोग्राफी में लिखा है कि, शाहरुख खान ने 1991 में बॉलीवुड में कदम रखा था। आते ही वह सुपरस्टार बन गए थे। यहां तक की लड़कियां तो उनके लिए पागल हो जाया करती थी। पर उन्हें शाहरुख बिल्कुल भी पसंद नहीं आए थे। उन्हे हमेशा से ही आमिर खान अच्छे लगे थे। उन्हें आमिर खान की सीरियस और संजीदा एक्टिंग अच्छी लगती थी।

वहीं उनके सबसे करीबी दोस्त और धर्मा प्रोडक्शन के सीईओ अपूर्वा मेहता शाहरुख खान के बहुत बड़े फैन थे। वह हमेशा शाहरुख की तारीफ किया करते थे। करण ने आगे लिखा है कि, उनकी और अपूर्व की शाहरुख और आमिर को लेकर कई बार लड़ाई हो जाती थी। वे दोनों अपने अपने पसंदीदा एक्टर्स का समर्थन ऐसे करते थे जैसे कि वह उनके करीबी रिश्तेदार हो। कई बाहर तो दोनों के बीच झगड़ा बहुत ज्यादा बढ़ जाता था।

दीवाना में की थी ओवरएक्टिंग

शाहरुख खान की डेब्यू फिल्म दीवाना थी। दीवाना में उनकी एक्टिंग देखने के बाद लाखों लोग उनके फैन हो गए थे। लेकिन करण जौहर को लगता था कि शाहरुख खान ने दीवाना फिल्म में बहुत ओवरएक्टिंग की है। करण के मुताबिक शाहरुख को एक्टिंग करना नहीं आती थी। करण ने अपनी ऑटो बायोग्राफी में बताया है कि उन्हें हमेशा से लगता था कि शाहरुख खान बहुत एरोगेंट स्वभाव के व्यक्ति हैं।

लेकिन जब उनकी शाहरुख से फिल्म करण अर्जुन के सेट पर पहली मुलाकात हुई थी। इसके बाद से ही शाहरुख को लेकर उनकी सोच बदल गई। करण ने लिखा है कि, उनके पिता यश जौहर शाहरुख खान को एक फिल्म के लिए साइन करना चाहते थे। इसी सिलसिले में उनकी शाहरुख से पहली मुलाकात हुई थी। जिसके बाद करण  शाहरुख के बहुत अच्छे दोस्त बन गए। दोनों की जोड़ी ने कुछ कुछ होता है, कभी खुशी कभी गम, कभी अलविदा ना कहना, माय नेम इज खान जैसी सुपरहिट फिल्में दी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.