34 साल की लेडी टीचर ने 13 साल के स्टूडेंट के साथ रचाई शादी, सुहागरात भी मनाई

जालांधर से एक अजीब और गरीब मामला सामने आया है। मामला अजीब इस लिए है क्योंकि इस घटना में एक टीचर ने अपने 13 साल के मासूम से जबरन शादी कर ली। और गरीब इस लिए की यह मामला मानसिक दिवालियापन भी दर्शाता है। शिक्षिका ने यह सब ढोंग एक अंधविश्वास के चलते किया, दरअसल टीचर की शादी नहीं हो पा रही थी। लिहाजा किसी ने उसे इस तरह से शादी करने का टोटका बताया। टीचर को भी इस बात पर विश्वास हो गया कि इससे उनका मांगलिक दोष खत्म हो जाएगा। फिलाहाल बच्चे के परिवार वालों ने टीचर के खिलाफ मामला दर्ज कर दिया है। 

अभी तक के मामले में सामने आया है कि बच्चे को टीचर ने ट्यूशन पढ़ाने के बहाने से 6 दिन तक अपने घर में ही रखा, इसी दौरान उन्होंने बच्चे से शादी रचाली। बताया जा रहा है कि यह शादी महज़ प्रतीकात्मक ही थी। वहीं यह बात भी सामने आ रही है कि बच्चे के पैरेंट्स की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है, लिहाजा टीचर ने उनसे कहा कि वो बच्चे की पढ़ाई और मेहनत करेगी। मासूम गरीब माँ-बाप ने विश्वास कर बच्चे को टीचर के यहां पढ़ने भेज दिया। 

पुलिस में दर्ज रिपोर्ट में कहा गया कि टीचर ने 6 दिनों तक बच्चे को जबरन अपने घर में बंद रखा और उसके साथ शादी की तमाम रस्में निभाई। हल्दी, मेहंदीसे ले कर सुहागरात तक की तमाम रस्में अंधविश्वासी टीचर ने मासूम से बच्चे के साथ कर ली। इसके साथ ही पंडित के कहने पर चूड़ियां तौड़ते हुए विधवा होने का ढोंग भी किया गया। सिर्फ इतना ही नहीं ज़िंदा बच्चे की शोक सभा भी की गई। 

जब बच्चा यह तमाम तरह की नोटंकी खत्म कर घर आया तो उसने अपने परिवार को सारी आपबीती बताई, यह भी बताया कि उससे टीचर और उसके परिवार वाले जबरन घर का काम भी करवाते थे। इन सब बातों को सुनकर बच्चे के परिवार वाले सन्न रह गए और उन्होंने पुलिस में मामला दर्ज करवा दिया। पुलिस ने प्रारंभिक जांच में माना की इस तरह की शादी हुई है। और अब पुलिस उपरोक्त मामले में कार्यवाही कर रही है। 

वहीं आरोपी टीचर और उसके परिवार वालों का कहना है कि काफी समय से टीचर की शादी नहीं हो पा रही है। जब टीचर की कुंडली पंडित को दिखाई तो उन्होंने लड़की में मांगलिक दोष माना। इसी के निपटारे के लिए पंडित ने इस तरह की प्रतीकात्मक शादी करने का सुझाव दिया। पंडित की बात मान कर अब टीचर के परिवार वाले भारी मुसीबत में पड़ गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.