सुशांत मामले में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने दी मुम्बई पुलिस को शाबाशी, कही यह बात

नए साल के उपलक्ष्य में एक कार्यक्रम को संबोधित करने गए महराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बीते साल में घटी घटनाओं का ज़िक्र किया। इस पर बात करते हुए उन्होंने सुशांत मामले का ज़िक्र भी किया। उन्होंने कहा कि मुम्बई पुलिस को बदनाम करने की पूरी कोशिश की गई मगर अब उन तमाम लोगों के मुंह बंद हो गए हैं। 

 गौरतलब है कि सुशांत सिंह राजपूत 14 जून के दिन अपने मुम्बई स्थित घर में संदिग्ध अवस्था में पाये गए थे। इसके बाद इस मामले की जांच मुम्बई पुलिस कर रही थी, मगर पुलिस की जांच से सुशांत के परिवार वाले, दोस्त, इंडस्ट्री के कुछ लोग और अभिनेता के चाहने वाले खुश नहीं थे। यही वजह है कि सुप्रीम कोर्ट की दखल के बाद इस मामले को CBI को सौंप दिया गया था। 

बता दें कि सुशांत मामले में मुम्बई पुलिस पर कई संगीन आरोप लगाए गए थे। कहा गया था कि इस मामले में मुम्बई पुलिस ने काफी लापरवाही बरती थी। वहीं सुशांत के अलावा उनकी मैनेजर दिशा सालियान के मामले में भी मुम्बई पुलिस का रवैया अपत्तिजनक करार दिया गया था। जिसके बाद मुम्बई पुलिस को सोशल मीडिया पर आड़े हाथों लिया गया था, और उन पर लोगों का काफी गुस्सा फूटा था। ऐसे में नए साल के उपलक्ष्य में हो रहे मुम्बई पुलिस के एक कार्यक्रम में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने पुलिस की जमकर पीठ ठौकि और कहा कि पुलिस को बदनाम करने की कुछ लोगों ने काफी कोशिश की मगर अब उन तमाम लोगों के मुंह बंद हो गए हैं। 

साथ ही मुख्यमंत्री ने यह भी कहा, “मुझे अभिमान है इस साल की शुरुआत मैंन मेरे पुलिस परिवार के साथ की है। इस कार्यक्रम में आने का मुझे गर्व है। मैं इस परिवार का मुखिया होने के तौर पर सभी को नए वर्ष की शुभकामनाएं देता हूं” अपनी बात रखते हुए उन्होंने आगे कहा कि, “बीती रात जैसे ही 12 बजे लोगों ने एक दूसरे को बधाइयां देने शुरू कर दी। उस समय भी मुंबई पुलिस अपने कर्तव्य का पालन कर रही थी। लोगों की सुरक्षा में अपनी ड्यूटी निभा रही थी। पुलिस वाले भी इंसान हैं और मुख्यमंत्री नहीं बल्कि एक आम इंसान के रूप में मैं आप लोगों का तहे दिल से अभिवादन करता हूं।”

Leave a Reply

Your email address will not be published.