महाराष्ट्र के गृहमंत्रालय ने पलट दी अर्नब की किस्मत, गृहमंत्री ने 40 पुलिसकर्मियों की टीम गठित कर किया यह कांड

इंटीरियर डिजाइन और उनकी माँ को जान देने के लिए उकसाने के आरोप में सजा काट रहे अर्नब गोस्वामी फिलहाल पुलिस की गिरफ्त में है। अब खबर सामने आ रही है कि इसकी पहले से प्लानिंग की गई थी। NCP नेता एवं महाराष्ट्र के गृहमंत्री ने अर्नब गोस्वामी को जेल पहुंचाने के लिए पूरी कमर कस ली थी उन्होंने अपने गृह विभाग से इस पूरे मामले को खुद ऑपरेट किया तथा कोंकण रेंज के आईजी संजय मोहिते की अगुआई में 40 पुलिसकर्मियों की एक टीम का भी गठन किया गया था। 

गौरतलब है कि इस मामले को 2 साल पहले रायगढ़ पुलिस ने बंद कर दिया था। इसलिए मुम्बई पुलिस को इस केस को रीओपन करने के लिए रायगढ़ पुलिस की इजाज़त मांगी और जैसे ही इज़ाजत मिल गयी ऑपरेशन अर्नब शुरू हो गया। इसके लिए मुम्बई और रायगढ़ दोनों थाने से चुनिंदा पुलिस वालों को चुना गया था। 

वरिष्ठ पत्रकार अर्नब गोस्वामी को पकड़ने के लिए मोहिते ने पूरी रणनीति रची थी और उस कागजी रणनीति को अंजाम देने की ज़िम्मेदारी अक्सर सुर्खियों में रहने वाले सचिन वाजे को सौंपी गई थी। कैबिनेट के एक वरिष्ठ सदस्य ने एक मीडिया समूह से बातचीत के दौरान बताया कि “अर्नब काफी बड़े पत्रकार हैं और इनकी पहुंच काफी ऊपर तक है। ऐसे में मोहिते की नेतृत्व वाली टीम को इस प्लान को अंजाम करने के लिए काफी मशक्कत का सामना करना पड़ा। हमने शांति से हर एक पड़ाव को पार किया, उकसाने की पूरी कोशिश की गई पर हमारी तरफ से कोई गलती नहीं कि गई, टीम के सभी सदस्यों ने संयम से काम लिया। 

लीक होने की थी संभावना 

 अपनी बात रखते हुए उन्होंने आगे कहा कि “हमें डर था कि अर्नब को अगर हमारी योजना की भनक भी लग गयी तो वो गिरफ्तारी से बचने के लिए शहर भी छोड़ सकते हैं। वहीं मामले की प्रारंभिक जांच में ही इस बात का खुलासा हो गया था कि इस मामले में अर्नब की भूमिका भी थी। इसलिए हमने अर्नब के घर की गली के चक्कर काटने शुरू कर दिए। 

इसलिए लिए हर एक बारीकी का ध्यान रखा गया हर चीज़ की पहले से योजना बनाई गई।  पहले से हर बात निर्धारित थी कौन फाटक खटखटाएगा, कौन घर वालों से बात करेगा, विरोध होने पर कैसे निपटा जाएगा। 

हालांकि अर्नब ने शुरुआत में प्रतिरोध भी किया मगर वाजे के द्वारा उन्हें समझाया गया कि अगर वे कॉपरेट नहीं करेंगे तो उन पर कार्यवाही की जा सकती है। इन सब बातों का ध्यान रखा तो काम शांति से निपट गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.