मुम्बई पुलिस की ज़्यादती : वकील विकास सिंह ने लागये गंभीर आरोप, कहा- परिवार से जबरन आत्महत्या वाले…

सुशान्त सिंह राजपूत केस ने पूरे देश में एक अलग ही मेंडेट तैयार कर दिया है, इसी का कारण है कि आज इस केस की जांच देश की तीन बड़ी केंद्रीय जांच एजेंसियां कर रही है। CBI, ED और नारोकोटिक्स डिपार्टमेंट इस मामले में रोज़ नए खुलासे कर रहे हैं। इसके साथ ही मीडिया ग्रुप और सोशल मीडिया के ज़रिए भी कई राज़ का पर्दाफाश किया जा रहा है। वहीं इन दिनों यह बात भी चर्चा का विषय रही कि आज जो परिवार हत्या का संदेश जता रहा है, वो परिवार ही पहले मुम्बई पुलिस के आत्महत्या वाले स्टेटमेंट पर साइन कर चुका है। मगर अब परिवार के वकील ने इन सभी खबरों को सिरे से नकारते हुए, मुम्बई पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए हैं। 

गौरतलब है कि अभी तक सुशांत केस में उनके परिवार से ले कर उनके करीबियों तक सभी के बयान सीबीआई ने दर्ज कर लिए हैं। वहीं कइयों को पूछताछ के लिए नोटिस भेज चुके हैं। वहीं मीडया से बात करते हुए जब परिवार के वकील विकास सिंह ने एक सवाल के जवाब में कहा कि ”परिवार ने कभी भी इस तरह का स्टेटमेंट नहीं दिया है कि सुशांत ने आत्महत्या की थी, जिस स्टेटमेंट की बात मीडिया में हो रही थी वो मराठी में लिखा गया था। परिवार ने इस बात पर ऑब्जेक्शन भी उठाया था कि अगर आपको हमारे साइन चाहिए तो प्लीज इसे मराठी में मत लिखिए। मगर मुम्बई पुलिस ने उनकी बात नहीं सुनी और जबरन उनके साइन लिए गए, परिवार को इस बात की बिल्कुल जानकारी नहीं था कि उस स्टेटमेंट में क्या है। 

वहीं उन्होंने आगे बताया कि” परिवार को स्टेटमेंट पढ़ कर भी नहीं सुनाया गया था। वहीं इसके साथ ही वो स्टेटमेंट मराठी में लिखा हुआ था अगर वो पढ़ कर भी सुनाया जाता तो वो बस उन्हें ही समझ आता जो मराठी जानते हैं। जिसे मराठी नहीं आती वो कैसे चेक करेगा कि क्या लिखा हुआ है, यह एक सिंपल लॉजिक होता है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published.