कंगना और उनकी बहन रंगोली को मुंबई पुलिस का एक और समन, दो धर्मों के बीच मतभेद पैदा करने का लगा आरोप

बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत अपनी फिल्मों से ज्यादा अपनी हाजिर जवाबी और बेबाक बयानों की वजह से चर्चा में रहती हैं। अपने बयानों की वजह से कई बार उन्हें विवादों का सामना करना पड़ा। तो कई बार उन्हें निडरता से आवाज उठाने के लिए सराहना भी मिली। लेकिन उनकी यही बेबाकी अब उनके लिए भारी पड़ रही है। कंगना रनौत और उनकी बहन रंगोली चंदेल को मुंबई पुलिस द्वारा एक बार फिर समन भेजा गया है। बता दें कि पिछले दिनों दोनों के खिलाफ कोर्ट के आदेश के बाद केस दर्ज किया गया है।

जिसके चलते कंगना और रंगोली को 26 और 27 अक्टूबर को बांद्रा पुलिस स्टेशन में हाजिर होना था। लेकिन दोनों अपने भाई की शादी के लिए हिमाचल में थी। इसी वजह से उन्होंने बाद में पूछताछ के लिए आने की बात कही। वहीं अब मुंबई पुलिस द्वारा भेजे गए दूसरे समन के अनुसार कंगना और रंगोली को 10 नवंबर से पहले पूछताछ के लिए बांद्रा पुलिस स्टेशन पहुंचना है।

लोगों को भड़काने के लगे हैं आरोप

पिछले दिनों कंगना रनौत और उनकी बहन रंगोली चंदेल ने महाराष्ट्र सरकार और बॉलीवुड से जुड़े कई ट्वीट किए थे। उन्हीं ट्वीट के आधार पर उन दोनों के खिलाफ शिकायत दर्ज की गई है। दोनों के ऊपर एक विशेष समुदाय के ऊपर आपत्तिजनक टिप्पणी करने के आरोप लगाए गए हैं।

इसके साथ ही दोनों के ऊपर यह भी आरोप है कि उन्होंने धर्म और समुदाय को लेकर बहुत से लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंचाई है और लोगों को एक दूसरे के समुदाय के खिलाफ भड़काया है।

बॉलीवुड में हिंदू और मुस्लिम कलाकारों के बीच पैदा किया मतभेद

कंगना रनौत के खिलाफ दर्ज की गई शिकायत में उनके ऊपर यह आरोप भी लगाया गया है कि उन्होंने बॉलीवुड में हिंदू और मुस्लिम कलाकारों के बीच मतभेद पैदा किया है। उन्होंने पिछले कुछ महीनों में बॉलीवुड में हो रहे नेपोटिज्म को ढाल बनाकर कलाकारों की भावनाओं को ठेस पहुंचाई है।

बता दे कि यह शिकायत बॉलीवुड के कास्टिंग निर्देशक एवं फिटनेस ट्रेनर मुनव्वर अली सैयद की याचिका के बाद दर्ज की गई है। उनका कहना है कि, कंगना अपने ट्वीट और इंटरव्यू के जरिए हिंदू और मुस्लिम कलाकारों की धर्म से जुड़ी भावनाओं को आहत कर रही है। 

महाराष्ट्र सरकार पर भी साधा है निशाना

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद से ही कंगना रनौत ट्विटर पर बहुत एक्टिव हैं। उन्होंने सबसे पहले नेपोटिज्म और सुशांत की मौत को मुद्दा बनाते हुए महाराष्ट्र को पीओके कह दिया था। उनके इस बयान के बाद बहुत विवाद हुआ। इसके बाद कंगना रनौत लगातार महाराष्ट्र और महाराष्ट्र सरकार के ऊपर विवादित बयान देते हुए नजर आई। यहां तक कि बीएमसी द्वारा उनका ऑफिस तोड़े जाने पर उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक वीडियो जारी किया।

इस वीडियो में उन्होंने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को चुनौती दी। उन्होंने कहा कि, बाबर ने एक बार मंदिर तोड़ा था लेकिन वहां पर फिर से राम मंदिर बन रहा है। उसी प्रकार वह अपना ऑफिस दोबारा उसी जगह खड़ा करेंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.