NCB अधिकारी ने किया दावा, रिया चक्रवर्ती को हो सकती है इतने सालों की जेल

रिया चक्रवर्ती और शौविक चक्रवर्ती की जमानत का विरोध करते हुए बॉम्बे हाईकोर्ट में एडीजी अनिल सिंह ने सुनवाई के दौरान कहा था कि सुशांत की हत्या के मामले में रिया चक्रवर्ती का भी छोटा सा हिस्सा है। यह बयान आते ही मीडिया में तेजी से वायरल होने लगा, लिहाजा नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो को इस पूरे मामले में सामने आ कर सफाई देनी पड़ी। NCB के अधिकारी ने एक बड़े मीडिया समूह से बात करते हुए बताया कि सुशांत की हत्या से उनका कोई संबंध नहीं है। इसके अलावा उन्होंने बताया कि दोनों चक्रवर्ती भाई-बहनों के पास से लागभग ड़ेढ किलो चरस बरामद किया गया था। इस केस में उन्हें लगभग 10 से 20 साल की सजा सुनाई जा सकती है। 

इसके साथ ही उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि उनकी जांच सुशांत की हत्या से संबंध नहीं रखती है। हम एक अलग उद्देश्य के लिए इन्वेस्टिगेशन कर रहे हैं। सुशांत की हत्या का प्रकरण सीबीआई की जांच का हिस्सा है, और हम ड्रग कनेक्शन की जांच कर रहे हैं। इसी बात को अनिल सिंह ने भी कोर्ट में रखा था मगर उनके बयान को तोड़ा गया। 

उन्होंने आगे कहा कि ड्रग मामले में चाहे सुशांत सिंह राजपूत नहीं रहे, जिन्हें रिया ड्रग सप्लाई का काम करती थी। मगर मामला यहीं खत्म नहीं होता हमारी जांच में सुशांत मुख्य आरोपी नहीं है। सुशांत के अलावा भी यह ड्रग रैकेट विशाल रूप से फैला हुआ है। एजेंसी ने अब तक लागभग 19 लोगों को गिरफ्तार किया है जिनके पास से ड्रग बरामद हुआ है। इन सभी पर एनडीपीएस की धारा के तहत मामला दर्ज किया जाएगा। रिया पर भी ड्रग को स्टोर करने और उसका दाम चुकाने जैसे आरोपों के सबूत है जिसे वो जुठला नहीं सकती। 

वहीं उन्होंने आगे कहा कि रिया चक्रवर्ती के वकील को भी नहीं पता कि जांच एजेंसी को रिया के पास से कितना ड्रग बरामद हुआ, इसीलिए वे कोर्ट में दलील देते हैं कि ड्रग इतनी मात्रा में नहीं बरामद हुआ है। उन्होंने बताया है कि रिया के पास व्यावसायिक मात्रा का ड्रग बरामद किया गया है। रिया के पास लागभग डेढ़ किलों चरस बरामद किया गया है, वहीं उनके पास से गांजा भी काफी मात्रा में बरामद हुआ है। उन्होंने आगे कहा कि उनके पास पर्याप्त सबूत है और वो रिया को 10 से 20 साल की सजा दिलवाने के लिए काफी है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.