नहीं रहे फ्लाइंग जट के नाम से मशहूर ओलंपियन पद्मश्री मिल्खा सिंह, 91 की उम्र में ली आखरी सांस

पॉजिटिव होने के बाद करीब एक महीने से ज़िन्दगी के साथ डटे रहने वाले फ्लाइंग जट मिल्खा सिंह ने शुक्रवार की देर रात आखरी सांस ली। गौरतलब है कि पद्मश्री अवॉर्ड से नवाजे जाने वाले मिल्खा सिंह को 19 मई को डॉक्टरों ने संक्रमित घोषित किया था। इसके बाद उन्हें चंडीगढ़ के फोर्टिस मोहाली में भर्ती करवाया गया। इसके बाद परिजनों ने डॉक्टरों से विचार विमर्श करने के बाद उन्हें अस्पताल में छुट्टी लेकर सेक्टर-8 स्थित आवास पर ही इलाज करा रहे थे।

गौरतलब है कि इससे पहले इस गई तीन जून को अचानक मिल्खा सिंह की तबियत ज़्यादा खराब होने की वजह से उन्हें पीजीआई में भर्ती करवाना पड़ा था। इस गए बुधवार को उनकी रिपोर्ट नेगेटिव भी आ गयी थी। मगर संक्रमण ने उनके शरीर को बुरी तरह से तोड़ दिया था, जिसकी वजह से वे बेहद कमजोर हो गए थे। शुक्रवार के दिन दोपहर को एक बार फिर उनके स्वास्थ्य में गिरावट आई, डॉक्टरों का कहना था कि बुखार के साथ लगातार उनका आक्सीजन लेवल लगातार गिरता ही जा रहा था। इसी बीच पीजीआई के डॉक्टरों की सीनियर टीम उन पर लगातार नजर बनाए हुए थी मगर देर रात उनकी हालत बहुत ज़्यादा बिगड़ गई और रात 11.40 बजे उन्होंने आखरी सांस लेली। उनके जाने के साथ भारतीय खेल का एक युग भी इस दुनिया से हमेशा हमेशा के लिए चला गया। इस दुखद सूचना से देश और दुनिया के खेल प्रेमी स्तब्ध हैं।

बता दें कि मिल्खा सिंह के अलावा उनकी बीवी निर्मल कोर भी संक्रमित पाई गई थी। हालात ज़्यादा खराब हुई तो उन्हें भी मोहाली के एक प्राइवेट अस्पताल में इलाज के लिए ले जाया गया था। उनकी भी स्थिति के दिनों से जस से तस थी उनकी हालत में कोई सुधार नहीं आ रहा था। 13 जून को उनकी स्थिति अचानक ज़्यादा बिगड़ गयी और वे अपनी ज़िंदगी से हार गई। मिल्खा सिंह को अपनी पत्नी से बेहद लगाव था। 

परिवार वालों को लगा था कि अगर मिल्खा सिंह को उनकी पत्नी के बारे में बताया गया तो स्थिति और ज़्यादा बिगड़ सकती है। लिहाजा उनसे यह बात छुपाई गयी। मगर परिवार वालों का कहना है कि पिछले दो दिनों से मिल्खा सिंह अपनी पत्नी निम्मी से बात करने की ज़िद पर अड़ गए थे। परिवार वालों ने यह भी बताया कि मिल्खा सिंह उनसे कह रहे थे कि निम्मी मेरे सपने में आई थी और मुझे पता है कि वो इस दुनिया में नहीं है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि निर्मल कौर भारतीय वॉलीबाल टीम की पूर्व कप्तान थीं। साथ ही वह चंडीगढ़ के खेल निदेशक के पद पर भी रही थीं।

लोकेन्द्र शर्मा प्राधान सम्पादक न्यूज मेनिया पिछले 10 सालों से वेब समाचार की दुनिया में कार्यरत हैं। आपने Wittyfeed, Laughing Colours, MP news, News Trend, Raj express, Ghamasan news जैसी संस्थाओं में अपनी सेवाएं दी हैं। तथा वर्तमान में आप हमारी संस्था के साथ जुड़ कर लोगों के इंटरटेनमेंट का ध्यान रख रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.