दुनिया से जाने के एक दिन पहले 13 जून को सुशांत कर रहे थे अपने भविष्य पर चर्चा, करने जा रहे थे यह फिल्म साइन

दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत को दुनिया से अलविदा कहे 5 महीने से ज्यादा समय हो चुका है। लेकिन उनके लिए न्याय की मुहिम अब भी जोरों शोरों से जारी है। शुरुआती दौर में इस मामले को आत्महत्या का मामला बताया जा रहा था। जिसके बाद इस केस को हत्या के एंगल से भी जांच करने की मांग की गई। बता दे कि सीबीआई की तरफ से अभी तक कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है।

पूरे देश को सीबीआई की रिपोर्ट का इंतजार है। वहीं अब एक अहम जानकारी सामने आई है जिससे मुंबई पुलिस की आत्महत्या की थ्योरी पर सवाल उठ रहे हैं। बता दे कि सुशांत सिंह राजपूत ने 13 जून यानी अपनी मौत से 1 दिन पहले किसी फिल्म के नए प्रोजेक्ट को लेकर बातचीत की थी। सुशांत को 13 जून को ही एक नई फिल्म ऑफर हुई थी जिसे करने में वे दिलचस्पी दिखा रहे थे। 

टैलेंट एजेंसी से की थी लंबी बातचीत

एक ओर जहां कहा जा रहा था कि सुशांत सिंह राजपूत फिल्म ना मिलने की वजह से परेशान थे। वहीं अब सामने आया है कि 13 जून को ही सुशांत सिंह राजपूत को एक फिल्म ऑफर हुई थी। फिल्म का निर्देशन मशहूर फिल्म मेकर निखिल आडवाणी करने वाले थे। बता दे की फिल्म मुंबई में हुए आतंकी हमले 26/ 11 पर आधारित थी। सुशांत सिंह राजपूत ने 13 जून को टैलेंट एजेंसी में उदय सिंह गौरी से फिल्म के सिलसिले में लंबी बातचीत की थी। उदय सिंह गौरी ने सुशांत को फिल्म के बारे में सारी जानकारी दी थी। जिसके बाद सुशांत उस फिल्म को करने में इंटरेस्टेड लग रहे थे। 

15 जून को भी होनी थी बात

बता दे कि केस की शुरुआती जांच में ही सुशांत की कॉल डिटेल्स में सामने आया था कि उन्होंने उदय सिंह गौरी से करीब 5 से 6 बार बात की थी। गौरी ने पूछताछ के दौरान कि बताया कि उन्होंने सुशांत से फिल्म को लेकर बात की थी। उदय सिंह ने इस बात का भी खुलासा किया है कि 13 जून को सुशांत सिंह राजपूत के साथ हुई बातचीत में उनके अलावा फिल्म के डायरेक्टर निखिल आडवाणी और प्रोड्यूसर रमेश तौरानी भी कॉन्फ्रेंस पर थे। सभी ने सुशांत को फिल्म के बारे में डिटेल्स बताई थी। जिसके बाद यह तय हुआ था कि 15 जून को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए फिल्म के बारे में आगे बातचीत की जाएगी।

लेकिन जब सबको पता चला कि 14 जून को सुशांत सिंह राजपूत ने आत्महत्या कर ली है तो वे सभी हैरान रह गए। बता दे कि उदय सिंह गौरी का यह स्टेटमेंट उस थियोरी को पूरी तरह से नकार देता है, जिसमें दावा किया गया था कि सुशांत को कोई काम नहीं मिल रहा था। जिसकी वजह से वह दिन पर दिन डिप्रेशन में जा रहे थे। और इसी डिप्रेशन की वजह से उन्होंने आत्महत्या की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.