एक तरफ मरीजों को मिल नहीं पा रही, दूसरी तरफ कुछ लोग एम्बुलेंस में मिटा रहे हैं बदन की भूख

उत्तरप्रदेश के वाराणसी के एक गांव में अचानक रात को एक एम्बुलेंस आ कर खड़ी हो गयी। जिस तरह से आज माहौल चल रहा है एम्बुलेंस लोगों के मन में डर पैदा कर रही है। ग्रामीणों को यही लगा की हो सकता है किसी की तबियत खराब हो गयी हो और एम्बुलेंस उसे लेने आयी हो। मगर काफी समय हो गया एम्बुलेंस एक ही जगह खड़ी रही। थोड़ी ही देर बाद ग्रामीणों ने देखा कि एम्बुलेंस हिलने लगी है। जिसे देख कर हर कोई हैरान रह गया। कुछ लोग हिम्मत करके एम्बुलेंस के पास गए और झांक के अंदर का नजारा देखने लगे। ग्रामीणों ने एम्बुलेंस के अंदर का जो नज़ारा देखा उसे देख हर कोई सन्न रह गया। ग्रमीणों ने तुरंत पुलिस को फोन किया। पुलिस ने आ कर एम्बुलेंस को सील कर दिया।

दरअसल राम नगर थाना क्षेत्र के करीब सुजाबाद चौकी है यहां लंबे समय से एक एम्बुलेंस खड़ी हुई थी। काफी समय से एम्बुलेंस एक ही जगह पर खड़ी रही लोगों ने पहले तो इस पर ध्यान नहीं दिया फिर सोचा किहा सकता है किसी मरीज को लेने आए हो।मगर थोड़ी ही देर में एम्बुलेंस हिलने लगी। जिसे देख आस पास से गुज़र रहे लोगों को शक हुआ और लोग उस एम्बुलेंस के आसपास जमा होने लगे।  कुछ लोगों ने हिम्मत करके एम्बुलेंस में झांकने का निर्णय लिया।

 ग्रामीणों ने अंदर झांक कर जो देखा उसे वे कभी नहीं भूल सकते। ग्रामीणों के अनुसार इस एम्बुलेंस में कुछ लोग आपत्तिजनक स्थिति में थे। जिसके बाद ग्रामीणों ने इस पूरे मामले की सूचना पुलिस को दे दी। पुलिस तुरंत ही मौके ओर पहुंच गई। पुलिस ने आते ही सबसे पहले एम्बुलेंस का दरवाजा खुलवाया इसमें से तीन युवक और एक युवती आपत्तिजनक स्थिति में बाहर निकले। पुलिस फिलहाल चारों को थाने में ले गयी है वहीं एम्बुलेंस को भी अपने कब्जे में ले लिया है। 

इस पूरे मामले में रामनगर क्षेत्र के थानाध्यक्ष वेद प्रकाश राय ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस को एंबुलेंस के हिलने की शिकायत प्राप्त हुई थी। जिसके बाद पुलिस की एक टीम को मौके पर भेजा गया था। पुलिस ने एंबुलेंस के अंदर से चार लोगों को गलत हालत में पाया गया। पुलिस ने चारों को गिरफ्तार कर लिया है और इनके खिलाफ केस दर्ज किया गया है। संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज करने के बाद इन्हें जेल भी भेज दिया गया है। जबकि एंबुलेंस पर सीलिंग कार्यवाही की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.