राजामौली ने दिया आलिया भट्ट को सीता का किरदार, गुस्साए फैन्स के आ रहे हैं यह रिएक्शन

लम्बे अंतराल के बाद फिर से आम व्यक्ति के अलावा फ़िल्मी सितारे भी अपने काम में लग गए हैं। बहुत सारी फिल्म जो इस साल रुक गयी थी उसका निर्माण अब शुरू होने लगा है। यानी आने वाले साल में काफी सारी फिल्मे होंगी जो दर्शकों के आँखों के सामने से गुज़रेगी, इन सब में जिसका दर्शक बेसब्री से इंतज़ार कर रहे हैं उस लिस्ट में राजामौली की RRR फिल्म भी है। लोगों के इंतज़ार की वजह इस फिल्म की स्टार कास्ट भी है जिसमें अजय देवगन, आलिया भट्ट जैसे अभिनेता शामिल है। अभी हाल ही में आलिया ने शूटिंग के लिए फिल्म के सेट पर दस्तक दी, जिसके फोटो इन दिनों सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहे हैं।

इन फोटो को फिल्म के डायरेक्टर ने अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट पर डाले थे, और इसके कैप्शन में उन्होंने लिखा है कि – “हमारी प्रिय सीता का आरआरआर के सेट पर गर्मजोशी से स्वागत है। बेहद काबिल और ख़ूबसूरत आलिया भट्ट।” जिन्हें नहीं पता उन्हें बता दें कि RRR का पूरा नाम Roudram Ranam Rudhiram है, वहीं इस फिल्म में मुख्य किरदार के रूप में जूनियर एनटीआर और राम चरन होंगे। आलिया भट्ट की यह पहली तेलुगू फिल्म होगी। बताते चलें कि मूल रूप से तेलुगु में बन रही यह फिल्म एक पीरियड फ़िल्म होगी, जो हिंदी समेत दूसरी भाषाओं में भी रिलीज़ की जाएगी।

हालांकि सुशांत मामले के बाद से लोगों के गुस्से का सामना कर रही आलिया भट्ट को सीता के किरदार में देखना काफी लोगों को पसंद नहीं आ रहा है। यही वजह है कि सोशल मीडिया पर लोग इस पर अपने गुस्से का इज़हार कर रहे हैं। कई यूजर्स आलिया की टांग खींचते हुए उनपर मिम्स भी बना रहे हैं।

वहीं मीडिया रिपोर्ट्स की जानकारी के अनुसार यह फिल्म दो स्वतंत्रता सैनानियों की कहानी को बयां करती हुई दिखाई देगी। यह वो स्वतंत्रता सैनानी होंगे जिन्होंने ब्रिटिशियस और हैदराबाद के निजाम से लोहा लिया था। इस फिल्म में दो अभिनेत्री होंगे वहीं इनके साथ ही इस फिल्म में कई विदेशी कलाकार भी प्रमुख भूमिका निभाते हुए नज़र आयेंगे। अगर बात जूनियर एनटीआर की की जाए तो वो इस फिल्म में कोमाराम भीम के किरदार में नज़र आयेंगे।     

गौरतलब है कि फिल्म की यह कहानी सत्य घटना पर आधारित है, फिल्म के डायरेक्टर राजामौली ने बताया था की कोमाराम एक बड़े स्वतंत्रता सैनानी थे जिन्होंने बहुत कम उम्र में ही अपने गाँव को छोड़ दिया था। बताया जाता है कि कोमाराम ने जब गाँव छोड़ा तो वे बिलकुल ही अशिक्षित थे, मगर जब वो गाँव में वापस आये तब तक उन्होंने शिक्षा हासिल कर ली थी। उन्होंने आदिवासियों को एक किया और निजाम के शासन की बुनियाद हिला दी थी। 

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Ram Charan (@alwaysramcharan)

गौरतलब है कि यह एक बड़े बजट की फिल्म होगी, अभी माना जा रहा है कि इसका बजट लगभग 350 से 400 करोड़ के आस-पास का होगा। फ़िल्म को लेकर एक इंटरव्यू में राजामौली ने कहा था कि दोनों कलाकारों के किरदार इतने दमदार और बेहतरीन हैं कि फ़िल्म शुरू होने के बाद दर्शकों को एनटीआर जूनियर और रामचरन तेजा नज़र नहीं आएंगे। फ़िल्म अगले साल रिलीज़ होने वाली है।      

Leave a Reply

Your email address will not be published.