अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी पर रवीश कुमार का आया बड़ा बयान, कह डाली यह बातें

रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के editor-in-chief अर्णब गोस्वामी को बुधवार सुबह मुंबई पुलिस ने हिरासत में लिया हैं। बता दे कि अर्णब गोस्वामी को दो साल पुराने सुसाइड केस में गिरफ्तार किया गया है। फिलहाल अर्णब को 14 दिन की हिरासत में भेजा गया है। जबसे अर्णब की गिरफ्तारी हुई है तब से ही बहुत से लोग उनके सपोर्ट में आ गए हैं। यहां तक कि गृह मंत्री अमित शाह ने भी इसकी निंदा करते हुए बयान दिया है कि, कांग्रेस ने लोकतंत्र को शर्मसार कर दिया।

बहुत से नेताओं ने एकदम से मुंबई पुलिस के इस एक्शन को पत्रकारिता और उनके व्यक्तिगत अधिकारों पर हमला बताया है। इसी बीच वरिष्ठ पत्रकार रवीश कुमार द्वारा किया गया एक फेसबुक पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। रवीश कुमार ने अर्णब की गिरफ्तारी के साथ साथ उनके घर को लेकर भी चौंकाने वाले स्टेटमेंट दे दिए।

र्णब गोस्वामी का घर देख कर रह गए हैरान

बता दे कि बुधवार की सुबह मुंबई पुलिस अचानक ही अर्णब गोस्वामी को एक पुराने केस में गिरफ्तार करने उनके घर पहुंच गई। करीब एक दर्जन से भी ज्यादा पुलिस वालों को अपने घर पर देखकर अर्णब गोस्वामी हैरान रह गए। उन्होंने इस तरह से न्यायिक हिरासत में जाने से साफ इनकार कर दिया। जिसके बाद वहां पर बहुत हंगामा देखने को मिला।

जब यह पूरी घटना घट रही थी तब उनकी पत्नी और बच्चों ने इसे कैमरे में कैद किया। इसके वीडियो में लोगों को अर्णब के घर के अंदर का नजारा भी देखने को मिला। वरिष्ठ पत्रकार रवीश कुमार ने वह क्लिप देखी तो वह अर्णब का आलीशान घर देख कर हैरान रह गए। उन्होंने अपनी फेसबुक पोस्ट में भी उनके घर को लेकर टिप्पणी की।

अर्णब गोस्वामी किसी के साथ नहीं रहे खड़े

https://www.facebook.com/618840728314078/posts/1619891328209008/

रवीश कुमार ने अपनी फेसबुक पोस्ट में अर्णब गोस्वामी की गिरफ्तारी को लेकर लिखा कि, आज हर कोई अर्णब गोस्वामी का सपोर्ट कर रहा है जबकि अर्णब ने कभी ऐसा नहीं किया। अर्णब अपनी पत्रकारिता से भीड़ को भड़का तो देते हैं लेकिन जब कोई मारा जाता है तो वह मरने वाले का सपोर्ट नहीं करते।

इसके साथ ही उन्होंने यह कहा कि, मुंबई पुलिस को साफ तौर पर यह बताना चाहिए कि पुराने केस को अचानक क्यों खोला गया। जिससे सबको यह साफ हो जाए की अर्णब गोस्वामी की गिरफ्तारी गैर कानूनी तरीके से नहीं हुई हैं। रवीश कुमार ने अपनी पोस्ट में उन लोगों पर भी निशाना साधा जो इसे पत्रकारिता पर हमला बता रहे थे। 

घर को लेकर कहीं यह बात

रवीश कुमार ने अर्णब गोस्वामी के घर को लेकर लिखा कि, वह रोज 6000 शब्द टाइप करके इतनी मेहनत करने के बावजूद एक छोटे से फ्लैट में रहते हैं। जबकि अर्णब गोस्वामी का घर इतना आलीशान है। रवीश कुमार ने अर्णब गोस्वामी पर निशाना साधते हुए यह भी कह दिया कि, चाहे अर्णब के दिलों दिमाग में जितना भी जहर हो लेकिन घर के मामले में उनकी पसंद बहुत अच्छी है।

उन्होंने आगे लिखा कि, मुंबई पुलिस अर्णब को जल्दी से रिहा कर दे। रिहाई के बाद अर्णब को छुट्टी लेकर अपने घर को अच्छे से देखना चाहिए और  उसका लुत्फ उठाना चाहिए। अगर वह ऐसा नहीं कर सकते तो वह उन्हें इनवाइट कर ले। जिससे वह के घर की बालकनी में बैठ कर आराम से कॉफी पी सके और घर की खूबसूरती को निहार सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.