रिया की सुशांत को बदनाम करने की साजिश फिर नाकाम, HC ने अभिनेत्री की शिकायत पर कही यह बात

बॉम्बे हाई कोर्ट ने हाल ही में दिवंगत अभिनेता की तारीफ में कसीदे पढ़ते हुए उनके काम की तारीफ की है। उन्होंने कहा है कि कोई भी व्यक्ति दिवंगत अभिनेता का चेहरा देख कर ही यह आसानी से कहा जा सकता है कि वे एक अच्छे इंसान थे। बता दें कि जस्टिस एस एस शिंदे और जस्टिस एम एस कार्णिक की पीठ ने सुशांत सिंह राजपूत की बहनों प्रियंका सिंह और मीतू सिंह की याचिका पर सुनवाई करते हुए उन्होंने यह टिप्पणी की वहीं फैसले को अभी पीठ ने सुरक्षित रखा है। 

गौरतलब है कि रिया चक्रवर्ती ने हाल ही में सुशांत की बहनों के खिलाफ मुकदमा दायर करवाया था। उन्होंने आरोप लगाया था कि राजपूत की बहनों ने अभिनेता के डॉक्टरी पर्चे के साथ छेड़छाड़ करते हुए फर्जी पर्चा बनवाया था, और दिवंगत अभिनेता को गलत दवाई खिलाई गयी। इसी मुकदमे को खारिज़ करने के लिए कोर्ट में सुशांत की बहनों ने अपील दायर की थी। 

इसी मामले की सुनवाई करते हुए न्यायमूर्ति शिंदे ने कहा – ‘‘मामला कुछ भी हो, सुशांत सिंह राजपूत का चेहरा देखकर कोई भी यह कह सकता था कि वह मासूम, सीधे और अच्छे इंसान थे।’’ साथ ही उन्होंने उनके काम की तारीफ करते हुए कहा एम एस धोनी पर बनी बायोपिक फ़िल्म में सभी ने उनकी तारीफ की थी। बतादें धोनी द अनटोल्ड स्टोरी में सुशांत ने मुख्य भूमिका निभाई थी। 

बता दें कि सुशांत की बहनों के खिलाफ रिया चक्रवर्ती ने बांद्रा पुलिस स्टेशन में प्राथमिकी दर्ज कराई थी। इस शिकायत में उन्होंने सुशांत की बहनों प्रियंका सिंह एवं मीतू सिंह के साथ दिल्ली के डॉक्टर तरुण कुमार को आरोपी बताया था। एक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती ने अपनी शिकायत में कहा था कि सुशांत की बहने ही अभिनेता के खिलाफ साजिश रच रही थी, और फर्जी पर्चे से गलत दवा दे रही थी। इसी मामले पर सफाई देते हुए सुशांत की बहनों के वकील विकास सिंह ने कोर्ट को बताया कि चूंकि लॉक डाउन की वजह से वे घर से निकलने में असमर्थ थे इसलिए उन्होंने ऑनलाइन परामर्श कर यह दवाई का पर्चा लिखाया था।  

Leave a Reply

Your email address will not be published.