सुशांत केस में पहली बार तोड़ी संदीप सिंह ने चुप्पी, बताया एम्बुलेंस ड्राइवर से अपना रिश्ता

सुशांत सिंह राजपूत का मामला अभी भी सीबीआई और एनसीबी की जांच के दायरे में है। अभिनेता के परिवार ने रिया चक्रवर्ती और कई अन्य के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने और मनी लॉन्ड्रिंग जैसे संगीन आरोपों के लिए एफआईआर दर्ज करवाई थी। जांच के दौरान बहुत सारी थ्योरी बनी और कइयों पर शक की सुई गहराती रही। जांच एजेंसियां हर एंगल से इस केस को खंगाल रही हैं। वहीं इस मामले में बहुत सारे लोगों से पहले ही पूछताछ की जा चुकी है। वहीं इस मामले में सुशांत के करीबी दोस्तों में से एक माने जाने वाले संदीप सिंह की उपस्थिति पर भी कई तरह के सवाल उठाए गए थे। दरअसल संदीप सिंह पिछले एक सालों से सुशांत के संपर्क में नहीं थे, मगर सुशान्त की मौत के बाद अचानक वो मीडिया में छा गए थे।

इसके साथ ही संदीप सिंह के कॉल रिकॉर्ड्स लीक हो गए थे, जिसमें यह पता चला था कि सुशांत के निधन के कुछ दिनों बाद उन्होंने एम्बुलेंस ड्राइवर को फोन किया था। एक सवाल संदीप सिंह के सामने रखा गया था और आखिरकार उन्होंने इस पर अपनी प्रतिक्रिया दे दी है। संदीप सिंह ने सुशांत की बहन मीतू के साथ अपने चैट को अपने सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर किया और उन सभी अटकलों पर विराम लगा दिया जो मीडिया में बीते दिनों चल रही थीं। चैट में, हम सुशांत की बहन को संदीप से एम्बुलेंस चालक के पेमेंट के बारे में बात करते हुए देख सकते हैं, बता दें चैट की तारीख 20 जून की है। वे सुशांत के मृत्यु प्रमाण पत्र के बारे में भी बात कर रहे थे।

उन्होंने अपने कैप्शन में लिखा कि, ।”हर कोई कह रहा है कि आपका परिवार मुझे नहीं जानता है। हाँ, यह सही है, मैं आपके परिवार से कभी नहीं मिला। क्या भाई के अंतिम संस्कार को पूरा करने के लिए इस शहर में एक दुःखी बहन की मदद करना मेरी गलती है? मैं बस इन अटकलों को खत्म करना चाहता हूं कि मैंने उसके स्टेटमेंट के बाद उससे क्यों बात की थी।”

इसके साथ ही संदीप सिंह ने कुछ साल पहले हुई दिवंगत अभिनेता के साथ की पर्सनल चैट भी शेयर की है। यह चैट तब की है जब वे उनसे मिलने उनके लोनावला के फार्म हाउस पर मिलने गए थे। इस चैट को सोशल मीडिया पर पब्लिश करने के लिए वे एक्टर से माफी मांगते हुए लिखते हैं, ” “क्षमा करें भई, मेरी चुप्पी ने मेरी छवि और परिवार के 20 वर्षों को टुकड़ों में तोड़ दिया है। मैं इस बात से अनजान था कि आज के समय में दोस्ती को एक प्रमाण पत्र की आवश्यकता होती है। आज मैं अपनी व्यक्तिगत चैट को सार्वजनिक कर रहा हूं, क्योंकि यह अंतिम उपाय है जो हमारे बीच की बॉन्डिंग को साबित करता है।”

गौरतलब है कि सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद वे हर जगह दिखाई दिए थे, इसी पर लोग कई तरह के सवाल खड़े कर रहे थे। इसका जवाब देते हुए उन्होंने लिखा, “14 जून को जब मैंने आपके बारे में सुना तो मैं खुद को रोक नहीं पा रहा था और मैं दुखी होकर आपके घर पहुंचा। लेकिन मित्तू दीदी के अलावा कोई भी मौजूद नहीं था। मैं अभी भी सोच रहा था कि क्या मेरा आपकी बहन के साथ खड़ा होना गलत था? उस अहम घड़ी में क्या मुझे आपके अन्य दोस्तों के आने का इंतजार करना चाहिए था?”

इसके साथ ही उन्होंने मोरिशियस पुलिस का एक पत्र साझा करते हुए यह भी बताया की उनके खिलाफ किसी भी प्रकार का कोई केस नहीं है। इस लेटर के कैप्शन में वो लिखते हैं कि “बस लगाए गए मॉरीशस की कहानी की अटकलों को खत्म करना चाहता हूं। कुछ लोग जलन के कारण, मेरी छवि को बर्बाद करना चाहते हैं। इसलिए मैं मॉरीशस पुलिस का पत्र साझा कर रहा हूँ, इसमें ऐसा कोई मामला कभी दर्ज नहीं हुआ था।”

Leave a Reply

Your email address will not be published.