शिवसेना नेता चाहता था मुकेश अम्बानी को परिवार सहित उड़ाना! पकड़े गए पुलिस अधिकारी वजे ने बताई यह बातें

मुकेश अम्बानी के घर के पास संदिग्ध अवस्था में मिली एसयूवी मामले में जांच कर रही एनआईए की टीम को बड़ी लीड मिलती हुई नजर आ रही है। एंटीलिया मामले में जांच टीम ने मुम्बई पुलिस अधिकारी सचिन वाजे को गिरफ्तार कर लिया है। वाजे की गिरफ्तारी के बाद इस मामले में शिवसेना के कुछ नेता और मुम्बई पुलिस के अन्य अधिकारी एनआईए की जांच के घेरे में आ चुके हैं। सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार कहा जा रहा है कि इस मामले में मुख्य गवाह के रूप में सामने आ रहे मनसुख हिरेन की आखरी लोकेशन भी एक शिवसेना नेता के दफ्तर के आसपास ही दिखाई दे रही है। वहीं इसके अलावा सचिन वजे और इस शिवसेना अधिकारी की भी आपस में अच्छी जान पहचान बताई जा रही है। 

बता दें मामले में एनआईए ने छापेमारी के लिए दो टीमें बनाई है। इसके साथ ही एनआईए की एक टीम इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स की माध्यम से पूरे मामले को सुलझाने में लगी हुई है। जांच टीम का कहना है कि इस मामले में फिलहाल हर कड़ी को जोड़ा जा रहा है और मामले को सुलझाने की कोशिश की जा रही है। वहीं जांच टीम के आला अधिकारियों का कहना है कि अगर इस मामले में शिवसेना नेता की भूमिका संदिग्ध पाई जाती है तो उन्हें भी पूछताछ के लिए बुलाया जाएगा।

वहीं एनआईए की गिरफ्त में आये मुम्बई पुलिस अधिकारी सचिन वजे से भी जांच टीम लगातार पूछताछ कर रही है। पूछताछ में सचिन ने इस बात को स्वीकारा की उसमें मशहूर होने के लिए यह खेल खेला था।  हालांकि एनआईए की टीम सचिन की इस बात पर विश्वास नहीं कर रही है। वहीं इसके साथ ही सचिन ने जांच टीम को बताया कि वो काफी समय बाद मुम्बई आया था, और लोग उसकी तरफ ध्यान नहीं दे रहे थे। वो लोगों का ध्यान अपनी और चाहता था इसलिए उसने यह काम किया। 

गौरतलब है कि मुकेशा अम्बानी के मामले में रात की 12 बजे जांच टीम ने सचिन को अपनी पकड़ में लिया था। उनसे 12 घंटे पूछताछ के बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था। आज सचिन को स्पेशल कोर्ट के सामने पेश किया जाएगा, जहां जांच टीम उसकी कस्टडी की डिमांड करेगी। वहीं बीजेपी नेता राकेश कदम ने सचिन की नार्कोटेक्स टेस्ट करवाने की मांग की है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.