भाई सुशांत को इंसाफ दिलाने के लिए श्वेता सिंह कीर्ति ने ली शपथ, वायरल हो रहा है ट्वीट

साल 2020 इस पूरी दुनिया के लिए एक डरावने सपने की तरह था। इस साल कई ऐसे घटनाएं हुई जो नहीं होना चाहिए, उन्ही में से सबसे दुखद घटना थी सुशांत का इस दुनिया से चले जाना। 14 जून ही वो मनहूस दिन था जिसने हम सब से सुशांत को हमेशा हमेशा के लिए छीन लिया था।  शुरुआत में इस मामले की जांच मुंबई पुलिस कर रही थी मगर बाद में परिवार और सुशांत के चाहने वाले प्रशंसको की मांग पर यह मामला सीबीआई को दे दिया गया। हालांकि छः महीने का वक्त गुज़र जाने के बाद भी इस मामले में कोई बड़ा सुराग जांच एजेंसी को नहीं मिल पाया है। यही वजह है कि सुशांत के चाहने वाले इस मामले में चल रही ढील से निराश है, तथा इन दिनों सोशल मीडिया पर उन्होंने सुशांत के लिए न्याय की मांग को तेज कर दिया है। यही वजह है कि आज सोशल मीडिया पर ath 4 SSR हैशटैग ट्रेंड हो रहा है। 

 वहीं इसी हैशटैग का उपयोग करते हुए श्वेता सिंह कीर्ति ने भी अपने भाई को न्याय देने की बात कही। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा- “मैं न्याय के लिए लड़ने और पूरा सच जानने की शपथ लेती हूं। ईश्वर हमारा मार्गदर्शन करें और रास्ता दिखाएं। सुशांत के फैंस और चाहने वाले इस हैशटैग के साथ जस्टिस की मांग कर रहे हैं।”

वहीं सुशांत के लिए शुरुआत से ही न्याय की आवाज उठाने वाले शेखर सुमन ने भी ट्वीट करते हुए लिखा कि “सुशांत सिंह राजपूत को न्याय दिलवाने के लिए अपनी मांग को फिर से बहाल कर रहे हैं। इस तरह के संवेदनशील मामले में छह महीने का वक़्त बहुत लम्बा होता है।”

बता दें की प्रारम्भ में इस पूरे मामले की जांच मुंबई पुलिस कर रही थी, मगर सुशांत के परिवार वाले और उनके प्रशंसक मुंबई पुलिस की कार्यवाही से खुश नहीं थे, इसके साथ ही सुशांत के पिता के.के सिंह ने पटना में दिवंगत अभिनेता सुशांत की आखरी प्रेमिका रिया चक्रवर्ती के खिलाफ कई संगीन आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज करवा दिया था। जिसके बाद बिहार सरकार की अनुशंसा पर केंद्र सरकार ने पूरे मामले को सीबीआई को सौंप दिया। 

बता दें फिलहाल इस मामले को देश की तीन बड़ी केन्द्रीय एजेंसियां संभाल रही है, जिसमें ED, NCB तथा CBI शामिल है। हालांकि अभी तक किसी भी निर्णय पर जांच एजेंसी पहुँच नहीं पाई है यही वजह है कि अब सुशांत के चाहने वालों का सब्र टूट सा गया है और यही वजह है कि सोशल मीडिया पर एक बार फिर उन्हें इंसाफ दिलाने की मांग तेज हो गयी है।            

Leave a Reply

Your email address will not be published.