सुशांत को अच्छे से आता था रूठे हुए को मनाना, टीवी के ‘कृष्ण’ ने सुनाया एक्टर और उनकी बेटी का भावुक किस्सा

सुशांत सिंह राजपूत का यूं अचानक छोड़ कर जाना पूरे देश के लिये एक त्रासदी से कम नहीं है। अपने चहेते सुपरस्टार के खो देने के गम से अभी तक कुछ लोग उभर नहीं पाए हैं। सुशांत के करीबी आज भी उनके फोटो, वीडियो और किस्सों के माध्यम से सोशल मीडिया पर सुशांत को याद करते रहते हैं, और उन्हें लोगों के बीच आज भी कायम रखते हैं। अभी हाल ही में टीवी के कृष्ण कहे जाने वाले नीतीश भारद्वाज ने भी एक भावुक किस्से के ज़रिए सुपरस्टार सुशांत को याद किया है। गौरतलब है कि नितेश भारद्धाज और सुशांत ने एक साथ फ़िल्म केदारनाथ में काम किया था। यह किस्सा भी उसी फ़िल्म के सेट का है, जो नितेश भारद्वाज की जुड़वा बेटियों से जुड़ा हुआ है। 

दरअसल नीतीश भारद्वाज ने सोशल मीडिया नेटवर्किंग साइड फेसबुक पर एक फोटो पोस्ट किया है जो कि केदारनाथ फ़िल्म के सेट का है। इस फोटो में सुशांत और साराके साथ नितेश भारद्वाज और उनकी दोनों बेटियों दिखाई दे रहीं है। फोटो शेयर करते हुए कैप्शन में नीतीश भारद्वाज ने एक भावुक कर देने  वाला किस्सा भी सुनाया, उन्होंने लिखा – केदारनाथ की शूटिंग और मेरी बेटिंया- हम सभी खोपोली ट्रेनिंग सेंटर में हम लोग 30 अप्रैल 2018 में पानी के अंदर एक सीन की शूटिंग कर रहे थे। जब मेरी जुड़वा बेटियां- देव्यानी और शिवरंजनी शूटिंग देखने आईं। दोनों बहुत बुद्धिमान और बहुत सारी चीजें जानने के लिए उत्सुक हैं इसलिए उनकी सुशांत और सारा से जल्द दोस्ती हो गई थी। उन्होंने सुशांत को बताया कि वो 2018 मई में अपना 6वां जन्मदिन मनाएंगी। सुशांत ने उनसे वादा किया कि वो कॉल करेंगे और उन्हें विश करेंगे। अपने बर्थडे पर वो इंतजार कर रही थीं लेकिन उन्हें सुशांत का कॉल नहीं आया। मैंने बेटियों को समझाया कि शायद वो बिजी होंगे’।

इसके आगे नीतीश लिखते हैं कि- ‘वहीं 2018 के जून महीने में जब हम सेट पर शूटिंग कर रहे थे तो सुशांत को अचानक अपना वादा याद गया। जब उन्हें एहसास हुआ कि वो मेरी बेटियों को कॉल करना भूल गए थे तो सुशांत ने बेटियों से बात करने के लिए मुझसे रिक्वेस्ट की। जब वो ऑनलाइन आईं तो वो मेरी बेटिंयों के बच्चों की तरह बात करने लगे और माफी भी मांगी। शिवरंजनी ने माफी स्वीकार कर ली और नॉर्मल बात की लेकिन देव्यानी ने कहा कि वो अभी भी नाराज है और उनसे बात करना नहीं चाहती है। सुशांत ने मेरे साथ देव्यानी से बात करने के लिए बहुत मनाया और जब मैंने बेटी को समझाया तो वो सुशांत से बात करने के लिए तैयार हो गई’।

नीतीश भारद्वाज के अनुसार उनकी बेटी को सुशांत का यूं वादाखिलाफी करना बिल्कुल भी रास नहीं आया था यही वजह थी कि वे दृढ़ विश्वास के साथ उनसे बात करने के लिए राजी नहीं हुई थी। हालांकि सुशांत ने उन्हें मनाने के लिए पूरी मेहनत लगा दी बच्चे की तरह तोतली भाषा में सुशांत उन्हें मनाने की कोशिश कर रहे। यह सीन देखना बड़ा मजेदार था एक बड़ा स्टार बच्चों की तरह बच्चों से प्रार्थना कर रहा था। नीतीश भारद्वाज के बच्चे खुश थे कि आखिरकार सुशांत भैया ने अपना वादा निभाया।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Nitish Bharadwaj (@nitishkrishna8)

सुशांत अपनी पोस्ट में आगे लिखते हैं कि- ‘ये सुशांत की इंसानियत थी, वो एक सज्जन और संवेदनशील आत्मा वाले व्यक्ति थे, उन्हें कभी अहंकार नहीं था। अगर उन्हें लगता था वो गलत हैं तो कभी माफी मांगने भी नहीं हिचकते थे। एक्टर्स जो स्टारडम हासिल करते हैं, ये एक बेहद दुर्लभ गुण है इंसान बने रहने और जमीन से जुड़े रहने के लिए रखा जाता है। अपने अंदर के बच्चे को जिंदा रखिए… मैं उनके इस गुण के कारण उन्हें पसंद करता था। मेरी बेटियां उन्हें आज भी याद करती हैं। स्टार्स तो आते-जाते हैं लेकिन बहुत कम लोग ही दिल को छू पाते हैं’।

Leave a Reply

Your email address will not be published.