पकड़ा गया सुशांत का गुनाहगार, यह दो लोग भी हुए गिरफ्तार

सुशांत सिंह राजपूत मामले में आये ड्रग एंगल के बाद NCB इस मामले में एक्टिवेट हो गयी थी। और शुरुआत से ही ताबड़तोड़ कार्यवाही कर रही है हाल ही में नारकोटिक्स डिपार्टमेंट ने तीन और लोगों को गिरफ्तार किया है। कहा जा रहा है जिन तीन लोगों को गिरफ्तार किया है उन तीन लोगों में एक शख़्स वो भी बताया जा रहा है जो सुशांत को ड्रग सप्लाय किया करता था। इसके अलावा दो विदेशी सिटिजन को भी जांच टीम ने अपनी हिरासत में लिया है। नारकोटिक्स डिपार्टमेंट का कहना है कि इनके पास से कई तरह की दवाएं भी बरमाद की गई है। 

 दरअसल इस मामले में गोवा और मुम्बई की नारकोटिक्स टीम ने अलग अलग दो ऑपरेशन प्लान किये थे। जिसमें दो विदेशी नागरिकों मुम्बई से तो वहीं हेमंत नाम के व्यक्ति को जिसे महाराज नाम से भी जाना जाता है उसे गोवा में दबोचा गया। खबरों के मुताबिक कहा जा रहा है कि यही वह शख्स हैं जो अनुज केशवानी और रीगल महाकाल को ड्रग पहुंचाते थे। गौरतलब है कि इन लोगों को पिछले साल सुशांत को ड्रग पहुंचाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। 

खबरों की माने तो कहा जा रहा है कि गोवा में नारकोटिक्स डिपार्टमेंट द्वारा अभी भी छापेमारी कार्यवाही चल रही है। इस कार्यवाही में अभी तक काफी मात्रा में ड्रग बरमाद किया गया है, वहीं नारकोटिक्स डिपार्टमेंट इस मामले में और गिरफ्तारी भी कर सकती है। वहीं जिन दो विदेशी नागरिकों को गिरफ्तार किया गया है उनका नाम उगोचुकु सोलोमन उबाबुको (नाइजीरिया) और जॉन इन्फिनिटी डेविड (कांगो) को पकड़ा गया है। इनके पास से 10 हजार रुपए की भारतीय करेंसी भी बरामद हुई है।

इस छापेमारी की कार्यवाही में इनमें LSD (कमर्शियल क्वांटिटी), चरस 28 ग्राम, कोकीन 22 ग्राम, गांजा 1.1 किलो और 160 ग्राम साइकोट्रॉपिक पदार्थ बरामद किया है। इसके अलावा 500 ग्राम ब्लू क्रिस्टल साइकोट्रॉपिक पदार्थ तक भी बरामद किया गया है। नारकोटिक्स डिपार्टमेंट इसे अपनी एक बड़ी सफलता के रूप में देख रहा है। 

लोकेन्द्र शर्मा प्राधान सम्पादक न्यूज मेनिया पिछले 10 सालों से वेब समाचार की दुनिया में कार्यरत हैं। आपने Wittyfeed, Laughing Colours, MP news, News Trend, Raj express, Ghamasan news जैसी संस्थाओं में अपनी सेवाएं दी हैं। तथा वर्तमान में आप हमारी संस्था के साथ जुड़ कर लोगों के इंटरटेनमेंट का ध्यान रख रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.