सुशांत के दोस्त और स्टाफ मेम्बर करने वाले हैं भूख हड़ताल, CBI की लेट लतीफी से परेशान

दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मृत्यु को तीन महीने से ज़्यादा का वक्त हो चुका है। और इस केस में CBI, ED और NCB जैसी केंद्रीय एजेंसियां जांच कर रहीं हैं मगर इसके बावजूद भी अब तक इस केस में कोई अहम सुराग नहीं मिल पाया है। जांच में हो रही देरी से परिवार सहित सुशान्त के चाहने वाले और दोस्त परेशान है। वहीं सुशांत के दोस्त रहे कोरियोग्राफर गणेश हिवरकर और सुशांत के पसर्नल असिस्टेंट रहे अंकित आचार्य ने गांधी जयंती के दिन यानी की दो अक्टूबर से सांकेतिक भूख हड़ताल करने का ऐलान किया है। यह दोनों राजघाट पर भूख हड़ताल करने वाले हैं और अब वे इसकी अनुमति मिलने का इंतज़ार कर रहे हैं। वहीं ख़बर आ रही है कि अगर इन्हें इस जगह पर भूख हड़ताल करने की इजाजत मिल जाती है तो इनके साथ निर्माता विजय शेखर भी भूख हड़ताल पर बैठ सकते हैं। बता दें कि विजय शेखर सुशांत के जीवन पर फ़िल्म बना रहे हैं जिसका नाम ‘सुइसाइड ऑर मर्डर’ रखा गया है।

वहीं सुशांत केस में चल रहे ड्रग्स की बात करें तो फिलहाल नारकोटिक्स डिपार्टमेंट किसी भी स्टार को पूछताछ के लिए नहीं बुला रहा है। फिलहाल NCB ने अभी जितने लोगों से बात की है और उससे जो सबूत मिले हैं उसका रिव्यू करने वाली है। वहीं नारकोटिक्स डिपार्टमेंट के डायरेक्टर जनरल राकेश अस्थाना भी दिल्ली लौट गए हैं और अधिकारियों के साथ मीटिंग कर अगली कार्यवाही की रूपरेखा तैयार की है। 

गौरतलब है कि हाल ही में परिवार के वकील विकास सिंह ने भी मामले की दिशा और गति पर सवाल उठाए थे। उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा था कि नारकोटिक्स डिपार्टमेंट मुद्दे से भटक गया है। वे अब मुम्बई पुलिस की तरह जांच कर रहे हैं, जो की सच को छुपाने का काम कर रही है। सीबीआई की भी जांच पर उन्होंने उंगली उठाते हुए कहा था कि उनकी जांच किस दिशा में चल रही है उसका उन्हें आईडिया नहीं है। मगर जांच में हो रही देरी के कारण परिवार असंतुष्ट है। 

वहीं उन्होंने कहा था कि उनकी बात एम्स के डॉक्टरों से हुई थी, उन्होंने उनसे कहा था कि सुशांत की मौत गला घोंटने से हुई है। वहीं मामले में जब से ड्रग एंगल का मोड़ आया है सुशांत के चाहने वाले भी सोशल मीडिया पर केस को दबाए जाने का आरोप जांच एजेंसियों ओर लगा रहे हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.