दुल्हन ने दूल्हे की जगह चुना बारात में आये युवक को अपना जीवन साथी, इस हरकत से हो गयी थी दुखी

उत्तरप्रदेश में अक्सर ऐसी घटनाएं होती रहती हैं जो हैरान कर देती है। हाल ही में भी ऐसी ही घटना सामने आई। यहां बारात तो निकली मगर उस बारात में दूल्हा नहीं था। बारात दुल्हन के घर पहुंची तो उन्होंने धूम धाम से उनका स्वागत भी किया। मगर रंग में भंग तब पड़ा जब वधु पक्ष के लोगों को यह बात पता लगी कि बारात में दूल्हा नहीं है। इसके बाद शादी का जश्न हंगामें में तब्दील हो गया। मामले को देखते हुए उस बिचौलिए व्यक्ति को पकड़ा गया जिसने यह शादी पक्की करवाई थी। वक्त की नजाकत देखते हुए बिचौलिए ने बारात में आये एक लड़के से लड़की की शादी करवा दी। उपरोक्त मामला कानपुर का बताया जा रहा है। 

मीडिया में जो खबर चल रही है उसके अनुसार यह पूरा मामला कानपुर जिले के नर्वल रायपुर का है, यहाँ की एक लड़की की शादी पड़ोस के ही गांव पालहेपुर में रहने वाले लड़के से तय हो गयी। इस शादी को एक बिचौलिए के माध्यम से तय किया गया था। सभी बात तय हो चुकी थी और 13 मई को दूल्हा बारात ले कर आने वाला था। मगर तय समय पर बारात निकालते वक्त अचानक दूल्हा कहीं गायब हो गया। परिवार वालों ने दूल्हे को ढूंढा मगर वो कहीं नहीं मिला, उसे फोन भी लगाया गया मगर उसने अपना फोन भी बंद कर लिया था। 

समय निकला जा रहा था मेहमान धीरे धीरे वधु पक्ष के घर जा रहे थे। लिहाज बाकी बारातियों ने भी दूल्हे के बिना ही बारात निकालने का फैसला ले लिया। बारात जब वधु पक्ष के घर के बाहर पहुंची तो बारात का बड़ी सम्मान के साथ स्वागत किया। मगर दूल्हा नहीं दिखा तो सवाल पूछने पर दुल्हन पक्ष के लोगों को पूरी बात पता चली। सच सुनते ही वधु का बाप गुस्सा हो गया और वो लड़के के बाप और बिचौलिए पर चिल्लाने लगा। 

बिचौलिए ने स्थिति को सुधारने के लिए अपने भाई के साथ शादी करने का प्रस्ताव दुल्हन पक्ष के सामने रखा। बिचौलिए का भाई भी उसी शादी में सम्मिलित था, इसलिए वो पूरे मामले को शुरू से जानता था लिहाजा उसने शादी के लिए हां कर दी। दुल्हन पक्ष ने भी बदनामी से बचने के लिए उस लड़के से शादी के लिए हां कर दी और दोनों की शादी हो गयी। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.