जब डॉक्टर ने भी मान लिया था की अब अमिताभ बच्चन को बचाना नहीं है मुमकिन, मगर तभी हुआ यह चमत्कार

सदी के महानायक का खिताब अमिताभ बच्चन को दिया गया है। उनकी अभिनय कला का लोहा लगभग तीन पीढ़ी मान चुकी है। आज भी बॉलीवुड में उनके कद के बराबर कोई अभिनेता नहीं है, यही वजह है कि पूरी इंडस्ट्री में उनकी काफी इज्जत की जाती है। साथ ही लोगों में उनकी दिनचर्या और उनके बारे में जानने की उत्सुकता हमेशा बनी रहती है। यूँ तो अमिताभ के जीवन से जुड़े कई किस्से इन्टरनेट पर मौजूद है मगर अभी भी कुछ ऐसी बात भी है जो आज तक इतनी ज़्यादा बाहर नहीं आ पाई है।  

ऐसा ही एक वीडियो इन दिनों इन्टरनेट पर काफी ज़्यादा वायरल हो रहा है जो आज से 37 साल पहले का बताया जा रहा है।  इस वीडियो में उस दौर की घटना बताई जा रही है जब फिल्म की सूटिंग के दौरान अमिताभ बच्चन घायल हो गए थे, उस वक्त डॉक्टर उन्हें बचाने की पूरी कोशिश कर रहे थे, मगर महानायक की तबियत में कुछ ख़ास सुधार नहीं हो रहा था। नौबत यह आ गयी थी कि डॉक्टर भी भगवान के भरोसे हो गए थे, डॉक्टरों के अनुसार भगवान ही इस मामले में अब कुछ कर सकते थे।

गौरतलब है कि उपरोक्त घटना 1982 की है जब अमिताभ फिल्म कुली की सूटिंग कर रहे थे। इस दौरान एक शॉट का फिल्मांकन करने के दौरान वे काफी चोटिल हो गए थे , और डॉक्टर तक ने दवा की जगह दुआ पर ज़्यादा विश्वास रखने की सलाह दे दी थी। क्योंकि डॉक्टर्स को लग रहा था की अब इन्हें बचा पाना संभव नहीं है।

हालांकि अमिताभ आज बुरे समय को मात दे कर सबके सामने हैं। बता दें की उस वक्त अमिताभ का इलाज मुंबई के ब्रीच कैंडी हॉस्पिटल में चल रहा था। यह कोई चमत्कार ही था कि जब अमिताभ को अचानक एक नया जीवन मिला था। अमिताभ खुद बताते हैं कि 8 दिनों में उनकी दो सर्जरी हुई लेकिन उनके स्वास्थ में कोई सुधार नही हो रहा था। तबीयत इतनी बिगड़ गई कि डॉक्टरों ने डेड मान लिया था। लेकिन भागवान ने बचा लिया। उन्होने बताया कि जब वह घर पहुंचे तो उनके पिता डा हरिवंश राय बच्चन उनका इंतजार कर रहे थे और अमिताभ को देखते ही उनके आंसू निकलने लगेथे। अमिताभ कहते है िकवह अपन पिता को इस तरह रोते हुए कभी नही देखा था।                 

Leave a Reply

Your email address will not be published.