महिला ने सुनाई अपनी आपबीती, कहा – मैंने अपने पति को उसे कार में चूमते देखा और…

हमारी शादी को 17 साल का वक्त गुज़र चुका है, हमारी जिंदगी भी अभी तक किसी आम शादी की तरह ही चल रही थी। इतने सालों के साथ ने हमें एक-दूसरे का आदी बना दिया था और हमें एक दूसरे से कोई शिकायत भी नहीं थी। भी इस बात को भी नहीं कहती कि हमारे बीच में प्यार मौजूद नहीं है, हालांकि हां इस बात को मैं स्वीकार करती हूं कि अब हमारे बीच पहले जैसा उत्साह नहीं बचा है। और इसी बीच एक दिन, मैंने अपने पति के मोबाइल पर मैसेज देखा जिसमें लिखा था ‘I MISS YOU SO MUCH. प्लीज़ जल्दी वापस आओ।’ जिसने इस मैसेज को भेजा था उसका नाम SK से सेव था।

पति के मोबाइल में यह नाम देख कर उस वक्त मेरे दिमाग में कई नाम चलने लगे। यह कोई भी हो सकती थी मेरे पति की कलीग सारिका या फिर हमारे पड़ोस में रहने वाली सुमिधा? इस बारे में सोच-सोच कर मेरा दिमाग चकरा रहा था। हालांकि मैंने इसके बाद भी इस बारे में उनसे कोई सवाल नहीं किया था, हां मगर ये मेसेज किसके थे ये मैं जानना जरूर चाहती थी। अगली सुबह जब मेरे पति नहाने के लिए बाथरूम गए तो उनकी अनुपस्थिति में मैंने उनका मोबाइल चेक किया। मगर तब तक वे अपनी पूरी चैट डिलीट कर चुकी थी। हालांकि, जब मैंने उनके कॉल डीटेल चेक किये उसमें जरूर SK के नंबर पर कई सारे कॉल्स रजिस्टर थे।

इसी दौरान उसी नंबर से एक मैसेज और आया जिसमें लिखा था ‘क्या तुम मुझे मॉल के पास पिक करने आओगे?’ यह मैसेज पढ़ कर मुझे लगा जैसे यही सही मौका है, मैं इससे उस लड़की का भी पता लगा सकती हूं और अपने पति को रंगे हाथों भी पकड़ सकती हूं। मैं फटाफट तैयार हो गयी और पति से कहा कि मैं पास के मॉल से सामान लेने के लिए मैं बाहर जा रही हूं। मैंने उसके बाद ड्राइव कर वहां पहुंची और ऐसी जगह गाड़ी खड़ी की जिससे से वे मुझे देख ना सके। तभी मैं देखती हूँ कि मेरे पति का कलीग सुनील कुमार मॉल के गेट पर खड़ा है।

सुनील को वहां देख कर मुझे लगा कि ये सिर्फ एक संयोग की बात ही सकती है। मगर मेरा यह भरम कुछ ही देर में टूट गया, कुछ देर के बाद मेरे पति भी वहां पहुंच गए और उन्हें देख कर सुनील कार में बैठ गया। अंदर बैठते ही दोनों एक दूसरे को चूमने लगे। ये देख कर मेरे तो होश ही गायब हो गए! वो व्यक्ति जो पिछले 17 साल से मेरा पति था, उसे मैंने एक दूसरे मर्द को किस करते देखा। ये नजारा मेरे लिए बेहद परेशान करने वाला था। हालांकि, मुझे इस बात की शांति थी कि ये कोई महिला नहीं थी। अब तक मैं खुद को झूठे दिलासे फसा कर इस शादी को बचाये हुए हूँ। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.