एक तरफा प्यार में सुध बुध खो बैठी थी यह अभिनेत्री, संजीव कपूर के एक इनकार ने बना दी यह हालत

एक दौर था जब संजीव कपूर का बॉलीवुड में जलवा था, अपने अभिनय से उन्होंने बुलंदी के हर शिखर को पा लिया था। बहुत ही कम समय में उन्होंने बॉलीवुड में अपना एक अलग मुकाम हासिल कर लिया था और फिर बहुत ही कम उम्र में उन्होंने इस दुनिया को भी अलविदा कह दिया। उन्होंने महज़ 47 वर्ष की उम्र में 6 नवम्बर 1985 को इस दुनिया में आखरी सांस ली थी। आज चाहे संजीव कुमार इस दुनिया में मौजूद नहीं है,मगर कोई है जो पागलों की तरह दिन रात आज भी उन्ही के बारे में सोचा करती है। जिस एक्ट्रेस की हम बात कर रहे हैं उनका नाम है सुलक्षणा पंडित जो संजीव कपूर से इस कदर प्यार करती थी कि उन्होंने उनके लिए उन्होंने अपना करियर अपना जीवन तक दांव पर लगा दिया, सुलक्षणा पंडित बैठते जागते बस संजीव कुमार के नाम की ही माला जपा करती थी। वे उन्हें कितना चाहती थी इसका अंदाजा इस बात से भी लगा सकते हैं कि वे उनके इस दुनिया से जाने की खबर को सहन तक नहीं कर पाई और आज तक वे अपनी मानसिक स्थिति सुधार नहीं सकी। 

सुलक्षणा की सबसे बड़ी परेशानी यह थी कि संजीव कुमार से उनका प्यार एक तरफा था। संजीव सुलक्षणा से प्यार नहीं करते थे, सुलक्षणा के बहुत समझाने के बाद भी वे उनसे प्यार करने या शादी करने के लिए तैयार नहीं हुए। मगर सजीव कपूर का जुनून सुलक्षणा पर इस तरह सवार था कि वे इस इनकार को सह नहीं पाई और डिप्रेशन के गहरे समुद्र में चली गयी। यह एक तरफा प्यार सुलक्षणा के लिए इतना खतरनाक साबित हुआ कि वे कभी इससे उभर नहीं पाई और मानसिक बीमारी से ग्रसित हो गयी। कुछ सालों पहले विजेता पंडित ने संजीव कपूर पर एक इंटरव्यू के दौरान यह आरोप लगाया था कि उन्होंने उनकी बहन को धोखा दिया था। 

गौरतलब है कि सुलक्षणा की तबियत इस हद तक खराब हो गयी थी कि वे अपने परिवार के सदस्यों को भी पहचान नहीं पा रही थी। विजेयता पंडित एक बार बताया था कि साल 2006 में वे सुलक्षणा को अपने घर पर ले आई थी। उसी दौरान बाथरूम में नहाने के दौरान उनका पैर फिसल गया था। जिसके बाद उनकी हिप बोन टूट गयी थी, उनकी उस समय चार सर्जरी हुई थी। मगर इसके बावजूद भी आज तक उन्हें चलने में समस्या है।

बता दें कि 70 और 80 के दशक में सुलक्षणा बॉलीवुड की काफी फेमस सिंगर और एक्ट्रेस मानी जाती थी। छत्तीसगढ़ के रायपुर में 12 जुलाई 1948 में जन्मी सुलक्षणा पंडित एक संगीत घराने से संबंध रखती थी।  सुलक्षणा भी महज 6 साल की उम्र से ही संगीत का अभ्यास करने लगी। बॉलीवुड में करियर बनाने की गर्ज से वे छत्तीसगढ़ से मुम्बई आ गयी। और उस समय के दिग्गज अभिनेता जितनेन्द्र, राजेश खन्ना, राज बब्बर, ऋषि कपूर और संजीव कुमार के साथ काम किया। 1975 में आई फ़िल्म उलझन में वे संजीव कपूर की हिरोइन बनी और इसी फिल्म के दौरान वे उन्हें दिल दे बैठी। सुलक्षणा अपनी फिल्मों में गाने भी खुद ही गाया करती थी। 

 मगर संजीव कपूर द्वारा ठुकराया जाना अभिनेत्री को बिल्कुल रास नहीं आया और उन्होंने इसके बाद फिल्मों में काम करना भी छोड़ दिया। वे इसके बाद मुम्बई में अपने एक फ्लैट में अपनी माँ के साथ रहती थी। मगर अभी भी संजीव कपूर उनके ज़हन से निकल नहीं पाए थे। बाद में जब संजीव कपूर की खबर उन्होंने सुनी तो वे उसे भी सह नहीं पाई और अपनी सुध-बुध भी खो बैठी। 

लोकेन्द्र शर्मा प्राधान सम्पादक न्यूज मेनिया पिछले 10 सालों से वेब समाचार की दुनिया में कार्यरत हैं। आपने Wittyfeed, Laughing Colours, MP news, News Trend, Raj express, Ghamasan news जैसी संस्थाओं में अपनी सेवाएं दी हैं। तथा वर्तमान में आप हमारी संस्था के साथ जुड़ कर लोगों के इंटरटेनमेंट का ध्यान रख रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.