मासूम को बचाने के लिए एथलीट ने बेच दिया अपना ओलंपिक मैडल, खरीदने वाले ने भी किया काबिले तारीफ काम

खेलों का महाकुंभ कहा जाने वाला ओलंपिक गेम्स हाल ही में टोक्यो में सम्पन्न हुआ। जिसमें दुनियाभर के बेहतरीन खिलाड़ियों ने अपने खेल का बेजोड़ नमूना दुनिया के सामने रखा। दुनिया भर के बेहतरीन खिलाड़ियों के साथ होने वाली इस प्रतिस्पर्धा में मेडल जितना सभी खिलाड़ियों का सपना होता है। जिसे दुनियाभर के कई खिलाड़ी अलग-अलग गेम्स में जीतकर साकार करते हैं। हालांकि एक मेडल है जो इन सब मेडलों पर भारी है। यह मेडल है इंसानियत का जो लोगों का दिल जीत कर ही हासिल किया जाता है। और यही हासिल किया है, इस बार तोक्यो ओलंपिक में भाग ले कर जैवलिन थ्रो में सिल्वर मेडल जितने वाली एथलीट ने। आइये क्या है पूरी कहानी विस्तार से जानते हैं।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Maria M. Andrejczyk (@m.andrejczyk)

हम जिस एथलीट की हम बात कर रहे हैं वो पोलैंड की रहने वाली मारिया आंद्रेजेक (Maria Andrejczyk) जिन्होंने भले ही तोक्यो ओलंपिक में सिल्वर मेडल जीता हो मगर उन्होंने हाल ही में ऐसा काम किया है जिसके लिए उन्हें दुनिया के तमामा मेडल भी दे दिये जायें तो कम है। दरअसल मेडल जीतने के बाद ही मारिया ने इसे ऑनलाइन नीलाम करने का फैसला लिया और इससे एक बड़ी धनराशि हासिल की। मारिया ने यह सब किया 8 महीने के एक मासूम बच्चे को बचाने के लिए जो इस वक्त दिल की एक गंभीर बीमारी से जूझ रहा है। और इलाज के लिए उसके पैरेंट्स को 3 करोड़ रुपयों की जरूरत थी।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Maria M. Andrejczyk (@m.andrejczyk)

अपने मासूम बच्चे को बचाने के लिए पैरेंट ऑनलाइन सभी से मदद की गुहार लगाते हुए कैम्पेन चला रहे थे। हालांकि काफी प्रयासों के बाद भी वे जितनी रकम चाहिए थी उससे आधी ही रकम जोड़ पाए थे। और इलाज के लिए वक्त भी नज़दीक आता जा रहा था। जब मारिया को इस बात की जानकारी के लिए आगे आई और फेसबुक पर पोस्ट करते हुए यह ऐलान कर दिया कि वो बच्चे के खातिर अपने मेडल को नीलाम कर रही हैं। चूंकि मारिया खुद एक गंभीर बीमारी से गुज़र चुकी है इसलिए वो बच्चे के दर्द को बेहतर समझ सकती थी।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Maria M. Andrejczyk (@m.andrejczyk)

मारिया ने फेसबुक पर पोस्ट करते हुए लिखा ‘मेडल सिर्फ एक वस्तु है, लेकिन ये दूसरों के लिए बहुत अहम साबित हो सकता है। इस सिल्वर को एक कोठरी में जमा करने के बजाय इससे किसी की जान बचाई जा सकती है, इसलिए एक बीमार बच्चे की खातिर मैंने इसे नीलाम करने का फैसला कर लिया।’ इस मैडल को डेढ़ करोड़ रुपयों यानी इलाज के लिए जितनी जरूरत थी उतनी रकम में एक सुपर मार्केट की चेन ने इसे खरीदा।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Maria M. Andrejczyk (@m.andrejczyk)

हालांकि अभी अच्छाई का अंत नहीं हुआ क्योंकि इसके बाद जो हुआ वो और भी ज़्यादा खूबसूरत है। दरअसल कंपनी ने मारिया को उनकी मेहनत का फल ओलंपिक का सिल्वर मेडल लोटा दिया और कहा ‘हम मारिया के खूबसूरत और बेहद पवित्र काम से काफी प्रभावित हैं। हमने फैसला किया है कि ये सिल्वर मेडल जो उन्होंने तोक्यो में जीता है वह उनके पास ही रहेगा। हमें खुशी है कि हम इसमें सहयोग कर पाए।’

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Maria M. Andrejczyk (@m.andrejczyk)

जब दुनिया अपने बेहद बुरे वक्त में गुज़र रही उस वक्त इस तरह की खबरों को लिखना और इसे पढ़ना सबसे सुकून का काम होता है। मानवीय संवेदनाओं पर अपनी संवेदनाएं न्यौछावर करना ही असल मायने में सच्ची मानवता है। हम ओलंपिक मेडलिस्ट मारिया आंद्रेजेक को दिल से सलाम कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.