सुशांत मामले में बढ़ी दीपिका पादुकोण की मैनेजर करिश्मा की मुश्किलें, अब कोर्ट ने लिया ये फैसला

सुशांत सिंह राजपूत के जाने के बाद ड्रग मामले में जांच कर रही नारकोटिक्स डिपार्टमेंट की टीम ने लगभग पूरी फिल्म इंडस्ट्री की परेड लगा दी, अब उसी मामले में एक नई अपडेट आई है जिसने दीपिका पादुकोण की मैनेजर करिश्मा प्रकाश की मुश्किलें बढ़ा दी है। दरअसल करिश्मा प्रकाश ने स्पेशल एनडीपीएस (NDPS) कोर्ट में अग्रिम जमानत की याचिका लगाई थी, जिसे गुरुवार के दिन कोर्ट ने खारिज कर दिया है। बता दें कि गिरफ्तारी के डर से करिश्मा ने कोर्ट में इस अग्रिम जमानत की गुहार लगाई थी।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Whatsinthenews (@_whatsinthenews)

 गौरतलब है कि करिश्मा प्रकाश ने सुशांत मामले में चल रहे ड्रग्स केस में अपना नाम आने पर अंतरिम जमानत की गुहार करीब अक्टूबर में लगाई थी। हालांकि, अदालत ने करिश्मा की याचिका को बॉम्बे हाई कोर्ट में अपील करने के लिए समय दिया है। 

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Whatsinthenews (@_whatsinthenews)

बता दें कि सुशांत के जाने के बाद से ही बॉलीवुड इंडस्ट्री में फैले ड्रग मामले में नारकोटिक्स डिपार्टमेंट की टीम लगातार कार्यवाही कर रही है। वहीं इस पूरी जांच में दीपिका पादुकोण की मैनेजर करिश्मा का नाम बार-बार सामने आया है। ऐसे में करिश्मा प्रकाश को गिरफ्तारी का डर सताने लगा था। जिसके बाद अक्‍टूबर 2020 में ही नारकोटिक ड्रग्‍स ऐंड साइकोट्रोपिक सब्‍सटेंसेस ऐक्‍ट (NDPS) कोर्ट में अग्रिम जमानत की अर्जी दी थी। लेकिन इस मामले में सुनवाई करने के बाद अब कोर्ट ने उनकी याचिका को ख़ारिज कर दिया है। 

 

View this post on Instagram

 

A post shared by ETimes (@etimes)

हालांकि, इस दौरान कोर्ट की तरफ से कुछ राहत करिश्मा को भी दी गई है, दरअसल सुनवाई के दौरान अदालत ने करिश्मा को 12 अगस्त और 19 अगस्त को 11 से 2 बजे के बीच जांच के लिए एनसीबी दफ़्तर जाने की सलाह दी है। इसके अलावा कोर्ट ने  25 अगस्‍त तक के लिए ऑर्डर पर फिलहाल के लिए स्‍टे लगा दिया है ताकि वह जमानत के लिए बॉम्‍बे हाई कोर्ट में गुहार लगा सकें। गौरतलब है ली सुशांत मामले में सामने आए ड्रग्स केस की नारकोटिक्‍स कंट्रोल ब्‍यूरो (NCB) ड्रग पेडलर्स और बॉलीवुड सिलेब्रिटीज के कथित नेक्‍सस की जांच कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.