उद्धव सरकार ने दिए परमबीर सिंह के खिलाफ जांच के आदेश, लगाए गए हैं यह आरोप

पिछले दिनों वसूली मामले में महाराष्ट्र सरकार की नाक में दम करने वाले परमबीर सिंह की मुसीबत आने वाले दिनों में बढ़ सकती है। दरअसल हाल ही में एक पुलिस निरीक्षक ने परमबीर सिंह पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे। अब महाराष्ट्र के गृह विभाग ने इन आरोपों की जांच के आदेश दे दिए है। सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार यह आदेश गुरुवार को पारित किया गया। बताया जा रहा है कि परमबीर सिंह के खिलाफ जांच महाराष्ट्र के डीजीपी संजय पांडे को सौंपी गई है। 

बता दें कि परमबीर सिंह पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाने वाले पुलिस निरीक्षक का नाम अनूप डांगे है। अनूप डांगे को विभाग से बीते साल निलंबित कर दिया गया था हाल ही में उन्हें एक बार फिर से विभाग में बहाल किया गया है। डांगे ने आरोप लगाया है कि उनके निलंबन के आदेश को रद्द करने के एवज में परमबीर सिंह ने उनसे दो करोड़ रुपये की रिश्वत मांगी थी। डांगे ने गृह सचिवालय को एक पत्र लिख कर इस भ्रष्टाचार के बारे में अवगत करवाया था। हालांकि डांगे के आरोपों को सिंह सिरे से खारिज कर चुके हैं। 

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार अब इस पत्र और उसमें उठाये गए आरोपों की जांच के आदेश गृह विभाग ने दे दी है। मीडिया ने इस पूरे मामले में महाराष्ट्र के डीजीपी से भी संपर्क किया मगर खबर लिखने तक उनकी तरफ से कोई जवाब नहीं आया है। वहीं यह भी बात गौर करने लायक है कि यह दूसरी बार है जब उद्धव सरकार ने परमबीर सिंह पर जांच के आदेश दिए हैं। 

गौरतलब है इससे पहले गृह विभाग ने 25 फरवरी को उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के बाहर कथित तौर पर खड़ी गाड़ी मामले में लापरवाही बरतने के आरोप में गृह विभाग ने महाराष्ट्र के डीजीपी को सिंह के खिलाफ जांच के आदेश दिए थे। आरोप लगा था कि परमबीर सिंह ने इस केस में काफी लापरवाही बरती थी। साथ ही इस मामले को ठीक से सुलझा पाने में भी वो असमर्थ थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.