विवेक ओबेरॉय ने सुशांत मामले को ले कर दिया बड़ा बयान, कहा – बॉलीवुड नहीं मानेगा अपनी गलती

सुशांत सिंह राजपूत को इस दुनिया से गए एक साल का वक्त होने वाला है, इस महीने की 14 तारीख को ही पिछले साल सुशांत ने अपने मुम्बई स्थित घर में आखरी सांस ली थी। इसके बाद से ही लगातार बॉलीवुड के काम करने के तरीके और बाहरी व्यक्ति के साथ भेदभाव को ले कर सवाल उठते आएं हैं। इंडस्ट्री से जुड़े भी कई लोगों ने इस बात को स्वीकारा अब इस लिस्ट में विवेक ओबेरॉय का भी नाम सामने आया है। विवेक ने हाल ही में दिए इंटरव्यू में इस बात को स्वीकारा की इंडस्ट्री में काफी खामियां है मगर इसके बावजूद भी इंडस्ट्री अपने काम करने के तरीकों को नहीं सुधारती ना ही अपनी आलोचना का स्वीकार करती है। इसके साथ ही उन्हें यह भी समझ नहीं आता कि इंडस्ट्री अपनी कमियों को सुधारने में इतनी ना नकुर क्यों करती है।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Vivek Oberoi (@vivekoberoi)

अपनी बात रखते हुए विवेक कहते हैं कि, ‘हमारे पास एक अच्‍छी साइड है मगर इसके बावजूद बुरी चीजों को हम स्‍वीकार करने में अभी तक साहस नहीं जुटा पाते हैं। किसी भी इंसान, इंडस्‍ट्री या फ्रैटरनिटी के फलने-फूलने के लिए यह मालूम होना चाहिए कि हम में कितनी खामियां और इंडस्‍ट्री की क्‍या गलतियां हैं मगर हमें थोड़ा ऑस्‍ट्रिच सिंड्रोम है। हम नहीं मानते हैं कि हमारी इंडस्‍ट्री में कुछ गड़बड़ है।’ 

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Vivek Oberoi (@vivekoberoi)

वहीं सुशांत के बारे में बात करते हुए विवेक कहते हैं कि  “पिछले साल हमारी इंडस्‍ट्री को एक बहुत बड़ा नुकसान हुआ है। मगर इसके बावजूद भी अब तक कोई असल में इस बात को मानने को तैयार नहीं है कि सिस्‍टम में कुछ गड़बड़ है। बस यही लिख कर की एक घटना हो गई, हम अपना पल्ला झाड़ लेते हैं। बड़ा स्‍टार हो या एक छोटा अभिनेता, जब हम दुर्भाग्‍यवश किसी को खो देते हैं तो इससे आत्मनिरीक्षण करना बेहद जरूरी हो जाता है।’

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Vivek Oberoi (@vivekoberoi)

अपनी बात रखते हुए विवेक आगे कहते हैं कि ‘कई सारी चीजें ऐसी भी है इंडस्‍ट्री में जिन पर मुझे बेहद गर्व है लेकिन कई ऐसी भी चीजें हैं जिन पर मैं चाह कर भी खुश नहीं हो सकता। हमें इन पर खुलकर बोलना चाहिए। मुझे नहीं समझ आता कि हम इस पर बात करने में डरते क्‍यों हैं।’ विवेक ओबेरॉय का कहना है कि इंडस्ट्री जिस तरह प्यार और विश्वास स्वीकार करती है उसी तरह हमें आलोचना को भी स्वीकार करना चाहिए। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.