सालों बाद अपनी लड़कियों वाली हरकतों पर खुल कर बोले करण जौहर, कहा – मैं मटक-मटक कर चलता और…

करण जौहर बॉलीवुड के जाने माने फ़िल्म निर्माता हैं। हालांकि इसके बाद भी उन्हें लोग खूब खरी खोटी सुनाते हैं। उनकी सेक्सुअलिटी पर कई बार बातें उठती हैं और उन्हें लोगों की आलोचना का सामना करना पड़ता है। उनकी हरकतें लड़कियों की तरह है, उन्हें। लड़कियों की तरह चलना, बोलना, नाचना पसंद है। कई लोगों को करण जौहर की यही बात पसंद नहीं आती है, इसके लिए उन्हें ढेरों गालियां भी लोगों की सुननी पड़ती है। करण जौहर ने खुद इस बात को स्वीकार किया कि लोग बस उन्हें घृणा के भाव से ही देखते हैं और यही बात उन्हें सबसे ज़्यादा परेशान करती है। करण का कहना है कि वे जब भी सोशल मीडिया पर एक्टिव होते हैं लोग उन्हें काफी अपशब्द बोलते हैं जिससे वे उदास हो जाते हैं। 

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Karan Johar (@karanjohar)

करण जौहर ने अपने जीवन पर लिखी किताब में भी इस बात का ज़िक्र किया कि कई बार लोग इतने रूखे हो जाते थे कि वो मुझे सामने खड़े हो कर ही गाली निकालने लग जाते थे। एक एयरपोर्ट का किस्सा बताते हुए करण लिखते हैं कि एक शख़्स उनके पास आया और सीधे उनसे पूछने लगा कि क्या आप गे हैं? वो उस समय अपने बीवी बच्चों के साथ था उसके बावजूद भी उसने मुझसे यह सवाल पूछा। करण ने उसकी और देखा और कहा कि क्या आपको इसमें दिलचस्पी है। वो व्यक्ति क्या ? क्या कहने लगा। जिसके बाद करण ने उससे गुस्से में कहा मेरे सामने क्या-क्या मत करो और सीधे निकल जाओ। करण के अनुसार ऐसे लोगों को वो करारा जवाब देते हैं। 

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Karan Johar (@karanjohar)

करण ने एक इंटरव्यू में कहा था कि मेरे बारे में सब जानते हैं इसलिए मुझे चिल्ला-चिल्ला कर किसी भी बारे में ऐलान करने की जरूरत नहीं है। इसके साथ ही करण ने बताया कि वे किसी के साथ जिस्मानी सम्बन्ध बनाये यह जरूरी नहीं है। कोई उन्हें प्यार से गले लगा ले इसी पर वे खुश हो जाते हैं। उनके अनुसार वे जितना किसी से प्यार करते हैं बदले में अगर कोई उन्हें इतना ही प्यार दे दे तो इससे बड़ी बात ही क्या होगी। करण ने यह भी कहा कि ऐसा नहीं है कि मुझमें क्षमता या एहसास नहीं है, मगर वे ऐसे ही हैं। और उन्होंने ऐसे ही अपने आप को स्वीकार कर लिया है। 

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Karan Johar (@karanjohar)


वहीं करण ने एक इंटरव्यू में यह भी बताया था कि पहले उनकी आवाज लड़कियों की तरह पतली थी, इसी वजह से वे लोगों के बीच हंसी का पात्र बन गए थे। लोग उन्हें ताना मारा करते थे और बात बात पर टोका भी करते थे। लोग उनसे कहते थे लड़कियों की तरह मत बोलो, लड़कियों की तरह मत चलो, ऐसे मत ठुमको, वैसे मत नाचो। इन सब तानों से परेशान हो कर करण जौहर 15 साल की उम्र में स्पीच थैरेपिस्ट के पास इलाज करवाने चले गए। उन्होंने डॉक्टर से कहा कि उनकी आवाज लड़को की तरह कर दो, इसके बाद उन्हें लड़कों जैसी आवाज पाने के लिए 3 साल का वक्त लगा। 

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Karan Johar (@karanjohar)

करण जौहर ने बताया कि उनके पैरेंट्स को इस बात का एहसास उस वक्त नहीं था कि करण अपनी आवाज का इलाज करवा रहे हैं। इसके साथ ही करण ने बताया कि फ़िल्म सरगम के ढपली वाले गाने पर उन्हें डांस करना बेहद पसंद था। और अक्सर वे इस गाने पर नाचते रहते थे, उनके अनुसार जब भी वे इस गाने की प्रैक्टिस करते थे तो जया प्रदा वाला ही किरदारा निभाते थे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.